*File photo

झारखंड में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भाजपा आदिवासी महिला द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति की प्रत्याशी बना कर राजनीति में भूचाल ला दिया है। 

सबसे पहले सूचना के अनुसार आज दिल्ली में केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा airport जा कर श्रीमती द्रौपदी मुर्मू का स्वागत किया। वे राष्ट्रपति चुनाव में एक प्रत्याशी के रूप में नामांकन करेंगी।अब जब नीतीश कुमार ओर नवीन पटनाइक और उनकी पार्टी ने NDA की उम्मीदवारी श्रीमती मुर्मू को वोट देने का एलान कर दिया है, तो उनकी जीत पक्की  है। वे भारत की पहली आदिवासी राष्ट्रपति बनने जा रही हैं।

इस स्थिति में झारखंड के पूर्व मुख्‍यमंत्री और भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने संयुक्‍त विपक्ष के राष्‍ट्रपति पद के उम्‍मीदवार यशवंत सिन्‍हा से अपनी अपेक्षा जाहिर की है। उन्‍होंने कहा कि झारखंड की पूर्व राज्‍यपाल और आदिवासियों की सिरमौर द्रौपदी मुर्मू का सर्वोच्‍च संवैधानिक पद पर निर्विरोध चयन के लिए अपने नाम वापसी की घोषणा कर देश को अच्छा संदेश दें। बाबूलाल ने यशवंत सिन्‍हा को उनके भाजपा वाले दिन भी याद कराए।

बाबूलाल ने ट्विटर पर लिखा- आदरणीय यशवंत सिन्‍हा जी, आप भारतीय जनता पार्टी में रहे हैं। श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी के मंत्रिमंडल में वित्त मंत्री व अन्य कई महत्वपूर्ण पदों पर रहते हुए आपने देशहित में कई निर्णय लिए हैं। आज यह अवसर आपके सामने है कि आप राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की राष्ट्रपति प्रत्याशी श्रीमती द्रौपदी मुर्मू को निर्विरोध चयन के लिए अपने नाम वापसी की घोषणा के साथ देश को एक अच्छा संदेश दें।

एक आदिवासी संताल महिला की संवैधानिक सर्वोच्चता, सम्पूर्ण आदिवासी समाज का ऐतिहासिक सम्मान है। आशा है आप राज्य व देश के सम्मान के लिए यह त्याग और समर्पण देकर एक उत्कृष्ट उदाहरण प्रस्तुत करेंगे।

सबसे बड़ी परेशानी इधर झारखंड के मुख्‍यमंत्री और झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकारी प्रमुख ओर सनथाली आदिवासी नेता सोरेन के चेहरे पर पूरी दिख रही है। बाबूलाल ने सोरेन को भी नसीहत दी है। 

उन्‍होंने लिखा- सीएम हेमंत सोरेन जी, आदिवासी-संताल अस्मिता की रक्षा और इस ऐतिहासिक निर्णय के सहभागी बनकर राष्ट्रपति पद के लिए द्रौपदी मुर्मू जी के पक्ष में समर्थन देने की घोषणा करने में तनिक भी विलंब न करिए। राष्‍ट्रपति चुनाव में द्रौपदी मुर्मू को आपका समर्थन आजाद भारत के इतिहास में आदिवासी समाज के गौरवबोध के लिए याद किया जाएगा।

लेकिन मुख्य मंत्री सोरेन जो भ्रष्टाचार के आरोप में दुबे नज़र आते है, अबतक अपना पत्ता नही खोला है। पत्रकारों के बार बार पूछने पर वे बुधवार को सिर्फ़ ये कहे की उनकी पार्टी तय करेगी की वो यशवंत सिन्हा को या द्रौपदी मुर्मू को वोट देगी।आगे देखिए होता है क्या!

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read