चाईबासा स्थित सोनुवा प्रखंड की छह युवतियों की तमिलनाडु से सुरक्षित वापसी राज्य सरकार द्वारा कराया गया है। ये सभी युवतियां बन्नारी स्पिनिंग मिल्स लिमिटेड, तमिलनाडु में धागा बनाने का काम करने गई थीं। सभी के पारिश्रमिक का कुल 36,000 रुपये का भी भुगतान कराया गया है। इस कार्य में राज्य सरकार द्वारा शुरू किए गए सेफ एंड रिस्पॉन्सिबल माइग्रेशन सेंटर, चाईबासा एवं राज्य प्रवासी नियंत्रण कक्ष(कंट्रोल रूम) का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

--------------------------Advertisement--------------------------Birsa Jayanti

*आने से रोका तो मदद की लगाई गुहार*

मुक्त करायी गईं युवतियों को एक ठेकेदार द्वारा तमिलनाडु के त्रिपुर स्थित बन्नारी अम्मन स्पिनिंग मिल में काम दिलाया गया था। जब तीन-चार माह बाद युवतियां घर लौटने लगीं, तो ठेकेदार ने पैसे की मांग कर उन्हें रोक दिया। इसके बाद युवतियों ने राज्य सरकार से मदद मांगी। सरकार के निर्देश पर सभी युवतियों को सकुशल वापस लाया गया।

must read