झारखंड कांग्रेस के निलंबित तीन विधायकों के पास से मिले कैश के संबंध में कई बात सामने आयी है। पश्चिम बंगाल सीआईडी के अनुसार इन पैसों का सोर्स कोलकाता में था। 

रिपोर्ट के मुताबिक़ इस मामले की जांच करने वाले सीआईडी के वरिष्ठ अफसर का कहना है कि यह तीनों किसी के इशारे पर काम कर रहे थे और कोई बड़ा प्लान था। इससे पहले यह कहा गया था कि इन पैसों का कनेक्शन पूर्वोतर के राज्य से है।

हालांकि, सीआईडी अफसर ने उस बड़े गेम प्लान को लेकर ज्यादा जानकारी नहीं दी है, जिसकी जिक्र उन्होंने किया है। लेकिन उन्होंने इतना जरूर बताया है कि जो पैसे बरामद किये गये हैं वो इस प्लान का छोटा सा हिस्सा है। 

बीते शनिवार को पश्चिम बंगाल पुलिस ने एक गाड़ी में रखे 49 लाख रुपये कैश बरामद किये थे। इस गाड़ी में कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी, राजेश कच्छप और नमन बिक्सल मौजूद थे। इसके बाद विधायकों को गिरफ्तार कर लिया गया था। कांग्रेस पार्टी ने तीनों विधायकों को सस्पेंड कर दिया था। अदालत ने इन सभी को 10 दिनों के लिए सीआईडी की कस्टडी में भेजा था।

--------------------------Advertisement--------------------------Birsa Jayanti

रविवार को कांग्रेस पार्टी ने आरोप लगाया था कि भाजपा झारखंड में जेएमएम की सरकार को अस्थिर करना चाहती है। भगवा पार्टी ने इसके लिए प्रत्येक विधायक को 10 करोड़ रुपये का लालच दिया है। पश्चिम बंगाल की सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस ने भी बीजेपी पर ऐसे ही आरोप लगाए थे। 

बंगाल के सीआईडी अफसर के मुताबिक, सभी तीनों विधायक एक बिचौलिये के साथ गुवाहाटी गए थे। यहां किसी वजह से डील नहीं हो पाई। इसके बाद तीनों विधायक वापस कोलकाता आ गए और सुदेर स्ट्रीट होटल में चले गए।

must read