झारखंड के वन विभाग की एक बड़ी उपलब्धि है।इस कार्य के चलते जनता बहुत खुश है।”कुआँ में दो डूबे हूवे जंगली हाथियों को ज़िन्दा निकाल कर वन विभाग ने साबित कर दिया की उनके पास शक्ति के साथ साथ गुन है। हम सब उनके आभारी हैं”, ये कहना है कन्हैया लाल की।

कन्हैया लाल झारखंड के रामगढ़ जिले के गोला प्रखंड स्थित पुरबडीह गांव में सामाजिक कार्यकर्ता हैं।शुक्रवार की देर रात मकई के खेत स्थित एक सिंचाई कूप में दो जंगली हाथी गिर गए। 

घटना के बाद दोनों हाथियों की चिंघाड़ से रात-भर पूरे गांव के लोग परेशान रहे। इस तरह की घटनाएं पहले भी कई बार झारखंड में सामने आ चुकी हैं।

 कुछ दिनों पूर्व पलामू जिले में भी एक हाथी कुआं में गिर गया था। काफी मशक्कत के बाद उसे बाहर निकाला गया था। रांची जिले में भी इस वर्ष ऐसी ही एक घटना हो चुकी है।

--------------------------Advertisement--------------------------Birsa Jayanti

पुरबडीह निवासी किसान भागीरथ महतो के मकई के खेत में रात को जंगली हाथियों का झुंड प्रवेश कर मकई चरने में मस्त था। इसी बीच अंधेरा होने के कारण खेत में बने 20 फीट ब्यास वाले विशाल कुएं में दो जंगली हाथी गिर गए। 

ग्रामीणों ने इसकी सूचना वन विभाग को दी। सूचना मिलते ही वन विभाग की क्यूआरटी टीम घटनास्थल पहुंच ताबड़तोड़ रेस्क्यू आपरेशन कर लगभग तीन घंटे मशक्कत के बाद रात्रि 12.15 बजे दोनों हाथियों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया।

must read