ब्रिटिश हाई कमिशन नई दिल्ली के फॉरेन एंड कॉमनवेल्थ डेवलपमेंट ऑफिस (FCDO) और झारखंड सरकार के बीच आज ऐतिहासिक एमओयू हुआ है। 

इस अवसर पर ब्रिटिश हाई कमिशन टू इंडिया, श्री एलेक्स एलिस एवं उनकी टीम को मुख्य मंत्री हेमंत सोरेन ने हार्दिक बधाई और धन्यवाद दिया।

हेमंत सरकार के लिए गए निर्णय से मरांग गोमके जयपाल सिंह छात्रवृत्ति योजना का दायरा बढ़ गया है। “अब ट्राइबल के साथ-साथ पिछड़े वर्ग के बच्चे,जो विदेश में शिक्षा ग्रहण करना चाहते हैं उन्हें भी राज्य सरकार उच्च शिक्षा के लिए इस छात्रवृत्ति योजना के तहत विदेश में पढ़ाई करने के लिए भेजेगी।” 

--------------------------Advertisement--------------------------Birsa Jayanti

उक्त बातें मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने आज झारखंड मंत्रालय के स्थित सभागार में आयोजित राज्य सरकार एवं विदेश राष्ट्रमंडल और विकास कार्यालय (एफसीडीओ) ब्रिटिश उच्चायोग, नई दिल्ली के बीच MoU तथा Chevening Marang Gomke Jaipal Singh Munda Overseas Scholarship 2023 के शुभारंभ कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहीं।

इस अवसर पर ब्रिटिश हाई कमिश्नर श्री एलेक्स एलिस ने अपने संबोधन में मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन के नेतृत्व में झारखंड में उच्च शिक्षा के क्षेत्र में हो रहे प्रयासों की सराहना की। ब्रिटिश हाई कमिश्नर ने कहा कि झारखंड में बहुत सुंदर वादियां हैं। झारखंड में निवेश की काफी संभावनाएं हैं। यहां निवेश के अनुकूल माहौल तैयार किया गया है। राज्य सरकार अपनी ओर से निवेशकों को पूरा सपोर्ट दे रही है।

 

इस अवसर पर अनुसूचित जनजाति, अनुसूचित जाति, अल्पसंख्यक एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग के मंत्री श्री चंपाई सोरेन, कला, संस्कृति एवं खेलकूद विभाग के मंत्री श्री हफीजुल हसन, मुख्य सचिव श्री सुखदेव सिंह, विकास आयुक्त श्री अरुण कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजीव अरुण एक्का, मुख्यमंत्री के सचिव श्री विनय कुमार चौबे, अनुसूचित जनजाति, अनुसूचित जाति, अल्पसंख्यक एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग के सचिव श्री के.के. सोन, आदिवासी कल्याण आयुक्त श्री मुकेश कुमार, अनुसूचित जनजाति, अनुसूचित जाति, अल्पसंख्यक एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री अजय नाथ झा एवं विशेष सचिव श्री नेसार अहमद सहित ब्रिटिश उच्चायोग के प्रतिनिधि एवं अन्य गणमान्य लोग बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

must read