झारखंड में करम पूजा के दिन धनबाद में पुलिस के साथ मुठभेड़ में एक अपराधी मारा गया। वहीं दो अन्य को दबोचा गया है। 

मुठभेड़ की यह घटना तब हुई जब पांच अपराधी एक फाइनेंस कॉर्पोरेशन की ब्रांच को लूटने आए थे। उनसे हथियार बरामद किए गए हैं। जांच जारी है। एसएसपी ने यह जानकारी दी। 

मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है। सूचना मिलते ही बैंक मोड़ थाना प्रभारी पीके सिंह मौके पर पहुंचे। घटनास्थल पर पुलिस के गाड़ी से उतरते ही दोनों ओर से गोलीबारी हुई, जिसमें एक अपराधी मारा गया। लुटैरों ने बैंक के भीतर मुतुट फाइनेंस के मैनेजर विक्रम राज के साथ मारपीट भी की। हालांकि वह लूट को अंजाम देने में सफल नहीं हो सके। 

पुलिस के हत्थे चढ़े अपराधियों में से एक ने अपना नाम राहुल बताया। हालांकि यह अपराधी बार-बार अपना नाम बदल रहा है। उसने कहा कि हम सभी बिहार के रहने वाले हैं। दो दिन पहले अखबार में गुंजन ज्वैलर्स में लूट की खबर पढ़ी थी। उसमें देखा था कि अपराधी कितने आराम से आए और ढाई किलो सोना लूटकर चले गए। इसी वजह से धनबाद को सेफ टारगेट समझा। हमने सोचा था कि मुथूट फिनकॉर्प से एक करोड़ की संपत्ति मिल जाएगी, लेकिन यह नहीं सोचा था कि इतनी जल्दी पुलिस पहुंच जाएगी।  

पकड़े गए अपराधियों के मुताबिक वारदात को अंजाम देने से पहले उन्होंने इलाके की चार बार रेकी की थी। सोमवार की शाम को भी एक बार पहले यहां पहुंचे थे। इसके बाद मंगलवार की सुबह भी घटना को अंजाम देने से पहले दो बार रेकी कर पूरी तरह निश्चित हो गए। तय किया था कि सुबह-सुबह ही वारदात को अंजाम देना है, ताकि किसी के कुछ समझने से पहले आसानी से निकला जा सके।  

पुलिस के मुताबिक अपराधियों के पास एक चारपहिया वाहन भी था जिससे उनकी घटना को अंजाम देने और भाग निकलने की योजना था। उस वाहन की खोजबीन पुलिस ने शुरू कर दी है। साथ ही बिहार में भी अपने नेटवर्क का इस्तेमाल कर रही है।

--------------------------Advertisement--------------------------Birsa Jayanti

must read