आने वाले 5 वर्षों के लिए झारखंड में एक नई खेल नीति बनी है।इस खेल नीति का विधिवत रूप से मुख्य मंत्री हेमंत सोरेन ने लोकार्पण हुआ है। 

सरकार द्वारा बनायी गई यह खेल नीति राज्य के खिलाड़ियों, कोच तथा प्रशिक्षकों के लिए समर्पित है। मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड के नौजवानों में खेल के प्रति रुचि, जागरूकता और झुकाव को मैंने काफी करीब से समझने का काम किया है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार खेल की दिशा में राज्य सरकार ने अपना कदम बढ़ाया है, निश्चित रूप से खेल के क्षेत्र में झारखंड देश का अग्रणी राज्य बनेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जरूरत के हिसाब से पॉलिसी में समय-समय पर बदलाव की जाएगी। ‘मैंने पर्यटन, कला-संस्कृति, खेल-कूद एवं युवा कार्य विभाग को इस संबंध में निर्देश भी दिया है।’

इस अवसर पर पर्यटन, कला-संस्कृति, खेलकूद एवं युवा कार्य विभाग के मंत्री श्री हफिजुल हसन ने कहा कि तमाम विपरीत परिस्थितियों के बाद भी मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन के मार्गदर्शन एवं प्रेरणा से झारखंड खेल नीति, 2022 का लोकार्पण आज हो रहा है। 

--------------------------Advertisement--------------------------Birsa Jayanti

यह खेल नीति मुख्य रूप से यहां के खिलाड़ियों के बेहतर भविष्य, झारखंड में खेल गतिविधियों का प्रसार, युवाओं को रोजगार, आमजनों में आत्मविश्वास एवं झारखंड को राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय पटल पर स्थापित करने के उद्देश्य से बनाई गई है। 

खेल नीति में खिलाड़ियों को नौकरी एवं शिक्षण संस्थाओं में आरक्षण की व्यवस्था भी की गई है। उन्होंने कहा कि खेल मैदान में खिलाड़ियों की कोई जाति, कोई मजहब, कोई धर्म नहीं होता है। खिलाड़ी केवल खेल भावना एवं राष्ट्रीय भावना से खेलता है और यह दिलों से दिल को जोड़ने का स्थान होता है। 

इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री हेमन्तसोरेन, मंत्री श्री हफिजुल हसन एवं अन्य गणमान्य अतिथियों द्वारा राज्य के 13 खिलाड़ियों को सहायता राशि देकर सम्मानित किया गया। 

सहायता राशि प्राप्त करने वाले हॉकी खिलाड़ियों में पंकज कुमार रजक, संगीता कुमारी, सलीमा टेटे, निक्की प्रधान, आशा किरण बारला एवं ब्यूटी डुंगडुंग तथा एथलेटिक्स खिलाड़ी सुप्रिती कच्छप, फ्लोरेंस बारला, विशाखा सिंह, रिया कुमारी, विधि रावल, आकाश यादव एवं हेमन्त कुमार नाम शामिल थे। हॉकी खिलाड़ी पंकज कुमार रजक, संगीता कुमारी, सलीमा टेटे, निक्की प्रधान, आशा किरण बारला, ब्यूटी डुंगडुंग एवं एथलेटिक्स खिलाड़ी सुप्रिती कच्छप
अपरिहार्य कारण से उपस्थित नहीं हो सके, इन सभी की अनुपस्थिति में इनके परिजनों को सहायता राशि देकर सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर राज्य के मुख्य सचिव श्री सुखदेव सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजीव अरुण एक्का, मुख्यमंत्री के सचिव श्री विनय कुमार चौबे, पर्यटन, कला-संस्कृति, खेलकूद एवं युवा कार्य विभाग के सचिव डॉ. अमिताभ कौशल, निदेशक खेलकूद एवं युवा कार्य विभाग डॉ. संजय सिंह, विभिन्न खेल संघ के पदाधिकारी एवं राज्य के कई क्षेत्रों से पहुंचे खिलाड़ी उपस्थित थे।

must read