मवेशी तस्करों द्वारा सिमडेगा, गुमला, खूंटी के रास्ते गोवंश की तस्करी के लिए नया कॉरिडोर बनाया जा रहा है. झारखंड पुलिस मुख्यालय ने राज्य के सभी एसपी और एसएसपी को निर्देश दिया है कि यह मामला काफी गंभीर है, इसलिए राज्य के भीतर ऐसे सभी मामलों में सघन जांच एवं निगरानी की जाए. 

साथ ही मवेशी तस्करों के खिलाफ विधि सम्मत कार्रवाई की जाए. पुलिस ने इसी अभियान के तहत रांची जिले के मांडर थाना क्षेत्र में पशु लदा ट्रक जब्त किया है. यह ट्रक 14 चक्के वाला है. जिसमें 42 मवेशी होने की सूचना है. मवेशी तस्कर औरंगाबाद से होते हुए मांडर से गुजर रहे थे. मवेशियों को बंगाल ले जाया जा रहा था. 

एसएसपी किशोर कौशल को गुप्त सूचना मिली. सूचना के आधार पर कार्रवाई की गई. मांडर थाना प्रभारी विनय कुमार यादव के नेतृत्व में पुलिस की टीम ने कार्रवाई करते हुए 4 किलोमीटर पीछा कर मवेशी लदे को जब्त पकड़ा. ट्रक को पुलिस ने मुडमा के पास पकड़ा. ट्रक में 42 पशु लदे हुए थे. इस मामले में पुलिस आगे की जांच में जुटी हुई है. 
 
पुलिस को पुछताछ में मवेशी तस्करों ने बताया कि वे सभी बिहार के औरंगाबाद जिले के सोननगर थाना क्षेत्र स्थित बारुण के रहने वाले है. वहीं से मवेशियों को  ट्रक में लोड कर रांची के रास्ते बंगाल ले जा रहे थे.
 

--------------------------Advertisement--------------------------Birsa Jayanti

must read