नीतीश कुमार सरकार बिहार में एक सनसनी खेज़ घटना में डुबी नज़र आयी.सब जानते हैं,की किसी भी राज्य में पैसे के बल पर कुछ भी संभव है. 

लेकिन किसी दूसरे राज्य में पैसे और पैरवी बदौलत कोई भी पावर फुल कैदी जेल में रहते हुए भी ऐश काटते नही दिखे हैं. लेकिन ऐसा ही ताजा उदाहरण बिहार के वैशाली जिले में देखने को मिला है.

वैशाली सदर अस्पताल के कैदी वार्ड से सेक्स रैकेट का खुलासा हुआ है. कैदी वार्ड के कर्मियों की मिलीभगत से सजायाफ्ता कैदी वार्ड में कॉल गर्ल के साथ रंगरेलियां मना रहे थे. 

रंगरेलियां मनाने के लिए लड़की दूसरे राज्य से बिहार बुलाई गई थी. इस सूचना मिलते ही करताहा एसएचओ प्रवीण कुमार मौके पर पहुंचे और तब मामले की पोल खुली. 

मुख्य मंत्री नीतीश कुमार तो चुप्पी साध ली है. लेकिन बिहार के पुलिस अफसरो का कहना है कि सदर अस्पताल से इस तरह का मामला सामने आना काफी शर्मनाक है. 

--------------------------Advertisement--------------------------Birsa Jayanti

सूचना के अनुसार, यहां कैदी वार्ड में दूसरे राज्य ( बंगाल ) से कॉल गर्ल को बुलाया गया था और सभी कर्मचारी लड़की के साथ रंगरेलियां मना रहे थे. करताहा एसएचओ प्रवीण कुमार को इसकी गुप्त सूचना मिली, जिसके बाद वह तुरंत अस्पताल के कैदी वार्ड में पहुंच गए. 

वहां का नज़ारा देखकर खुद उनके भी होश उड़ गए. डीपीओ ने कॉल गर्ल, वार्ड बॉय समेत कई को अपने साथ थाने ले गए और उनसे पूछताछ की जा रही है. एसडीपीओ ने बुधवार की रात में ये कार्रवाई की थी.इस दौरान ओर उसके बाद पूरे अस्पताल में हड़कंप मच गया है.

must read