राँची में आज शहीदों के परिवार को सम्मान पूर्वक अधिकार दिलाने को लेकर एवं उन 10 से 25 साल के युवा तेजी से सूख नशे का आदि बनते जा रहे हैं, इन्हीं दो विषय को लेकर राष्ट्रीय युवा शक्ति के केंद्रीय अध्यक्ष उत्तम यादव सहित संगठन के सभी पदाधिकारी एवं सदस्य 1 महीने से ऊपर का पदयात्रा का कार्यक्रम तय किया गया है।

13 नवंबर से झारखंड में भगवान बिरसा मुंडा जी के प्रतिमा के समक्ष पुष्पांजलि अर्पित कर एवं राँची पहाड़ी मंदिर में पूजा कर वार्ड नंबर 29 से शहीद सम्मान पदयात्रा की शुरुआत होगी।

कार्यक्रम इस प्रकार है 13 तारीख वार्ड नंबर 29, 14 तारीख वार्ड नंबर 27, 15 तारीख वार्ड नंबर 28,16 तारीख वार्ड नंबर 34, 17 तारीख वार्ड नंबर 33, 18 तारीख वार्ड नंबर 32, 19 तारीख वार्ड नंबर 31, 20 तारीख वार्ड नंबर 30 इसी तरह प्रत्येक वार्ड में प्रत्येक दिन का पदयात्रा रखा गया है रात्रि जहां पदयात्रा समाप्त होगी उसी स्थान पर रात्रि विश्राम किया जाएगा l

★पिछले एक दशक से अमर शहीदों के परिवार के हक और अधिकार की लड़ाई लड़ती आ रही राष्ट्रीय युवा शक्ति शहीदों के सम्मान के लिए हर वो कार्य करती है जिससे देश और राज्य का मस्तक ऊँचा हो सके, चाहे वो परमवीर अल्बर्ट एक्का की प्रतिमा को विद्युत सज्जा से सुशोभित करना एवं परमवीर अल्बर्ट एक्का के प्रतिमा के समक्ष शहीद की पत्नी के हाथों से झंडोत्तोलन कराना, हो या फिर उरी में शहीद हुए खूंटी के लाल जोरा मुंडा की बच्ची का रांची के जेवियर कॉलेज में एडमिशन कराना सहित अन्य बलिदानियों के महान बलिदान को श्रद्धांजलि सभा के माध्यम से यादगार बनाना हो, इसी क्रम में राष्ट्रीय युवा शक्ति शहीद सम्मान पदयात्रा के माध्यम हर घर तक पहुंचेगी ताकि शहीदों के अधिकार के लिए हो रहे प्रयास में आप सभी नगरवासियों का सहयोग मिल सके।

हमारी मांगे

(1) *बहुत सारे शहीद के परिवारों को आज तक ना नौकरी मिल पाई है*

(2) *सारी सुविधा से लैस शहीद के परिवारों को घर बना कर दिया जाए l*

(3) *शहीद सम्मान राशि ₹1 करोड़ दिया जाए l*

(4) *शहीद के बच्चे की पढ़ाई की पूरी व्यवस्था की जाए l*

★हमारे राज्य के हर शहीद को सम्मान मिले और उनकी प्रतिमा राज्य में सुशोभित की जाए, इस दृढ़ संकल्प के साथ हम महान क्रांतिकारी भगत सिंह, की प्रतिमा रांची के ऐतिहासिक मोराबादी मैदान में एक शुरुआत करने जा रहे हैं जिसमें आपसभी श्रेष्ठजनों का साथ एवं सहयोग अपेक्षित है।

★शहीद सम्मान पदयात्रा सिर्फ एक मुहिम नहीं है बल्कि एक मिशन है जिसके माध्यम से हम अपने राज्य के हर बलिदानी सपूत को उनकी भव्य प्रतिमा के साथ श्रद्धांजलि देंगे और जन-जन तक यह संदेश पहुंचाएंगे कि झारखंड जिंदादिल लोगों का परिवार है जिसे अपने वीर सपूतों का सम्मान करना आता है। 

★अतः आपसे आग्रह है कि हमारे इस पदयात्रा से जुड़कर अपना सहयोग दें, याद रखें कि आपका छोटा सा प्रयास उस पिता को गौरवान्वित कर सकता है जिसने देश के लिए अपना बेटा खोया है और उस माँ के आँसू पोंछ सकता है जो सरकार से आस लगाए बैठी है वीर सपूत को1857 से लेकर आज तक सम्मान पूर्वक उसका अधिकार नहीं मिल पाया है आओ हम सही मिलकर उन अमर शहीद के परिवारों को सरकार से हक दिलवाए l

*इस पदयात्रा के माध्यम से हमसभी मिलकर युवाओं में फैल रहे सूखे नशे जैसे चरस, अफीम, इंजेक्शन, टैबलेट, डेट्राराइट, कोरेक्स, आदि की रोकथाम के लिए आवश्यक कड़े कानून को झारखंड विधानसभा के माध्यम से लागू करवाने का प्रयास करेंगे, ताकि युवाओं के भटकाव को रोका जा सके एवं उनकी जिंदगी बचाई जा सके।*

आज के प्रेस वार्ता में सुमन विद उमेश साहू अजीत लाकड़ा बबलू साहू विक्की लिंडा मधुकर सिंह मुख्य रूप से उपस्थित थे l
 

--------------------------Advertisement--------------------------Birsa Jayanti

must read