जदयू सुप्रीमो और बिहार के विकास पुरुष नीतीश कुमार ने एक बार फिर अपने पार्टी के राज्यसभा सांसद खीरू महतो पर भरोसा रखा है. ये तब सब जाने जब 
जनता दल यूनाइटेड  के राज्यसभा सांसद खीरू महतो को झारखंड राज्य परिषद की बैठक में एक बार फिर प्रदेश अध्यक्ष के पद पर सर्वसम्मति से निर्वाचित किया गया.

फोटो ग्राफ़रों ने निर्वाचित होने पर संगठन के नेताओं ने खीरू महतो को माला पहना कर उनका अभिनंदन किया. प्रदेश अध्यक्ष चुने जाने के बाद खीरू महतो ने कहा कि झारखंड में गठबंधन का निर्णय हमारे संगठन के राष्ट्रीय नेता लेंगे. 

उन्होंने ये भी कहा की राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह और बिहार के सीएम नीतीश कुमार इसके लिए अधिकृत किया गयें है. उन्होंने कुछ आगे बोलते हुवा कहा की “संगठन को इस कदर मजबूत करेंगे की दूसरी पार्टियों का गठबंधन करने के लिए मजबूर होना पड़ेगा. नीतीश कुमार का कार्यक्रम लेने का प्रयास किया जाएगा.”

खीरु महतो ने कहा कि “झारखंड में जदयू को एक नंबर की पार्टी बनाना है. जिस विधानसभा में 10 हजार सदस्य होंगे, वहां से जदयू विधानसभा का चुनाव लड़ेगी.”

संगठन के साथ संघर्ष करने वाले लोगों की चुनाव में पार्टी टिकट देने का काम करेगी. जदयू नेता गौतम सागर राणा ने कहा कि एटम बम से ज्यादा ताकतवर देश के नागरिकों की एकता होती है. 

भाजपा-आरएसएस के द्वारा देश में संकट फैलाया जा रहा है, और इस संकट से उबरने में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार काम कर रहे हैं. संप्रदायिकता को लेकर नीतीश कुमार ने युद्ध छेड़ दिया है. उन्होंने कहा कि रथ यात्रा के माध्यम से झारखंड के आवाम के बीच संगठन को जाना चाहिए. इसे लेकर विचार किया जा रहा है.

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read