न्यू दिल्ली में आज वॉलमार्ट ग्लोबल सोर्सिंग इंडिया प्राइवेट लिमिटेड और राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम लिमिटेड- एनएसआईसी के बीच एक महत्वपूर्ण समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। केंद्रीय सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री श्री नारायण राणे की गरिमामयी उपस्थिति में एनएसआईसी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक श्री गौरांग दीक्षित और वॉलमार्ट की निदेशक व हब प्रमुख सुश्री प्रमिला मल्लैया द्वारा समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। 

एनएसआईसी इस समझौता ज्ञापन के माध्यम से उन सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों को राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम की कई योजनाओं तथा अन्य सेवाओं का विस्तारित लाभ प्राप्त करने में सक्षम बनाएगा, जो विभिन्न वृद्धि कार्यक्रम में भाग लेंगे। इसके अतिरिक्त, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों को एनएसआईसी द्वारा प्रस्तावित विभिन्न अवसरों के तहत कार्यशील पूंजी प्राप्त करने, थोक खरीद सहायता आदि के विभिन्न लाभों का उपयोग करने का मौका मिलेगा। 

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

जो सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम वास्तव में एनएसआईसी के इकोसिस्टम का हिस्सा हैं, उन्हें प्रासंगिक समूहों में वृद्धि कार्यक्रम से भी जोड़ा जाएगा और इस कार्यक्रम के तहत "मुफ्त" में मौजूदा व्यावसायिक प्रशिक्षण सामग्री, सलाहकार सहयोग, उपकरण और ज्ञान तक उनकी पहुंच सुलभ होगी। यह समझौता वर्ष 2030 तक सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम को 2 ट्रिलियन डॉलर मूल्य के निर्यात लक्ष्य तक ले जाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

कार्यक्रम के दौरान श्री नारायण राणे ने अपने संबोधन में कहा, “मुझे यह देखकर खुशी हुई कि वॉलमार्ट के वृद्धि कार्यक्रम ने बड़ी संख्या में भारतीय सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम को विस्तार देने, उनके उत्पादन को बढ़ावा देने और विकास का धारक बनने में सक्षम बनाया है। 

वॉलमार्ट विशेष रूप से महामारी के दौरान प्रशिक्षण एवं क्षमता निर्माण के साथ सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम को कार्यशील बनाने में सहायक रहा है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में भारतीय एमएसएमई क्षेत्र में 6.3 करोड़ सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम शामिल हैं, जो 11 करोड़ से अधिक लोगों को रोजगार के अवसर देते हैं। हम आशा करते हैं कि वॉलमार्ट देश में बढ़ते एमएसएमई क्षेत्र को निरंतर अपना सहयोग देता रहेगा।

श्री राणे के संबोधन पर राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक श्री गौरांग दीक्षित ने कहा कि राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम भारत में एक मजबूत सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम क्षेत्र के विकास तथा कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। 

हम इस कार्यक्रम के अंतर्गत एमएसएमई को हमारी योजनाओं तक पहुंच बनाने और राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम के तहत सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम क्षेत्र को इसके विकास के संसाधन उपलब्ध कराने में मदद करने के उद्देश्य से वॉलमार्ट की वृद्धि योजना के साथ काम करने के लिए तत्पर हैं। इस साझेदारी के माध्यम से, देश भर के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम को राष्ट्रीय स्तर पर और दुनिया भर में अपने व्यवसायों का अधिक विस्तार करने के लिए आवश्यक सहयोग मिल सकता है।

must read