मौसम विभाग का कहना है कि झारखंड राज्य में पांच जनवरी के बाद ठंड और बढ़ेगी. फिलहाल कुहासा और बादल का राज्य में मिलाजुला असर देखने को मिल रह है.देश के पहाड़ी इलाकों में चल रही बफीर्ली हवाओं ने कनकनी और बढ़ा दी है. 

मौसम खुलने के साथ ही पांच जनवरी से ठंड और सताने लगेगी. झारखंड में ठंड की बात करें तो पलामू इसी चपेट में सबसे ज्यादा है। यहां शीतलहर और कनकनी का सबसे ज्यादा असर लोगों को झेलना पड़ रहा है।

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

राज्य में पलामू जिले का अधिकतम और न्यूनतम तापमान सबसे कम रिकॉर्ड किया गया है. मौसम केंद्र रांची के मुताबिक आने वाले दो दिनों के दौरान भी राज्य में ऐसी ही स्थिति बनी रहेगी. अभी जो बादल छाए हुए हैं, उसके छंटते ही राजधानी रांची में भी ठंड और बढ़ेगी. पारा 7-8 के करीब पहुँचा है।

ऐसी संभावना जताई गई है कि मकर संक्रांति के बाद ही थोड़ी राहत मिल सकती है.मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के अनुसार कुहासे और उत्तर से आ रही बर्फीली हवा के कारण झारखंड में कनकनी काफी बढ़ी है. पिछले 48 घंटों के दौरान अधिकतम तापमान नौ डिग्री नीचे गिर गया है.

must read