अब झारखंड के मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के अंतर्गत तीर्थ यात्रियों को तीर्थ स्थलों का दर्शन करा रही सरकार।

विगत माह 830 वरिष्ठ इस्लाम धर्मावलम्बियों को अजमेर शरीफ, आगरा एवं फतेहपुर सीकरी का कराया गया था दर्शन।

इसे कहते हैं मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना। इस योजना के दूसरे चरण में 20 मार्च 2023 को राज्य के 60 वर्ष से अधिक आयु के बीपीएल श्रेणी के 1000 वरिष्ठ हिन्दू धर्मावलम्बियों को द्वारका एवं सोमनाथ दर्शन हेतु ट्रेन रवाना होगी। 

तीर्थ दर्शन आईआरसीटीसी के माध्यम से कराया जायेगा।  यह विशेष ट्रेन हटिया स्टेशन से रवाना होगी। बता दें कि 15 मार्च निबंधन की आखिरी तारीख है। जानकारी के मुताबिक जिलावार कोटा निर्धारित है, लेकिन आवेदकों की संख्या काफी ज्यादा है।  

बता दें कि राज्य सरकार 60 वर्ष से अधिक आयु के बीपीएल श्रेणी के वरिष्ठ नागरिकों को मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के अंतर्गत तीर्थ स्थलों का दर्शन करा रही है। इस योजना के तहत तीर्थ यात्रा में सभी तीर्थ यात्रियों को निःशुल्क ट्रेन यात्रा,  नाश्ता,  भोजन एवं होटल में ठहराना तथा बस के माध्यम से स्थानीय धार्मिक स्थलों का भ्रमण कराया जाता है। 

*15 फरवरी से 21 फरवरी तक कराया गया तीर्थ दर्शन*

विगत माह झारखण्ड पर्यटन विकास निगम लि. द्वारा वर्ष 2023 के प्रथम चरण में राज्य के 60 वर्ष से अधिक आयु के बीपीएल श्रेणी के कुल 830 वरिष्ठ इस्लाम धर्मावलम्बियों का चयन किया गया था, जिनको 15 फरवरी से 21 फरवरी तक अजमेर शरीफ, आगरा एवं फतेहपुर सीकरी के तीर्थ स्थलों का दर्शन आईआरसीटीसी के माध्यम से विशेष ट्रेन द्वारा कराये गये। 

इस तीर्थ यात्रा में सभी तीर्थ यात्रियों को निःशुल्क ट्रेन यात्रा, नाश्ता, भोजन एवं होटल में ठहराना तथा बस के माध्यम से स्थानीय धार्मिक स्थलों का भ्रमण कराया गया। झारखंड सरकार द्वारा इस योजना के तहत दी जा रही सुविधाओं से सभी तीर्थ यात्री खुश हुए और उन्होंने झारखण्ड सरकार को धन्यवाद देते हुए इस योजना को आगे भी जारी रखने का अनुरोध किया।
 

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read