सावन का आज पहला सोमवार है। लेकिन हेमंत सरकार द्वारा अनुमति नही मिलने के कारण कोरोना से जुड़े है, और लॉकडाउन की वजह से बाबा बैद्यनाथ धाम में सन्नाटा पसरा है।

पहली सोमवार को कुछ श्रद्धालु पूजा के लिए आए, पर उन्हें मंदिर के अंदर प्रवेश करने की इजाजत नहीं मिली। इधर, श्रद्धालुओं को मंदिर में आने से रोकने के लिए पुलिस जवानों की तैनाती की गई है। भक्तों के लिए जिला प्रशासन ने मंदिर से लाइव दर्शन की व्यवस्था की है।इसी के चलते श्रद्धालु ऑनलाइन पूजा करते दिखे ।

बता  दे की यहां विश्वप्रसिद्ध श्रावणी मेला लगता है। मेला का आयोजन बिहार और झारखंड में संयुक्त रूप से होता है। बिहार के भागलपुर जिले के सुलतानगंज से गंगा जल लेकर श्रद्धालु पैदल कांवड़ यात्रा करते हुए देवघर स्थित बाबा बैद्यनाथ मंदिर पहुंचते हैं। 

इसके बाद बाबा बैद्यनाथ को जलाभिषेक करते हैं। सुलतानगंज से देवघर की दूरी करीब 108 किलोमीटर है। इस 108 किमी की पट्टी में श्रावणी मेला लगता है, लेकिन कोरोना के कारण श्रावणी मेला-2021 का आयोजन नहीं हो रहा है। पिछले साल भी कोरोना के कारण मेला नहीं लगा था। श्रावणी मेला नहीं लगने और बाबा बैद्यनाथ मंदिर में प्रवेश की इजाजत नहीं मिलने से भक्त निराश हैं।

अच्छी बात ये है की बाबा बैद्यनाथ के दर्शन के लिए ऑनलाइन व्यवस्था की गई है। देवघर डीसी मंजूनाथ भजंत्री के अनुसार, सरकार की वेबसाइट झारगोवडॉटइन, देवघर उपायुक्त, पीआरडी देवघर के फेसबुक पेज और जिला प्रशासन की वेबसाइट https://deoghar.nic.in/ पर ऑनलाइन बाबा का दर्शन कर सकते हैं। बाबा बैद्यनाथ की पूजा सुबह 4.45 से 5.30 बजे तक लाइव दिखाया जाएगा। शाम को होने वाली शृंगार पूजा को 7.30 से 8.15 बजे तक सभी प्लेटफाॅर्म पर प्रसारित किया जाएगा।

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read