*घटना स्थल से भीड़ को हटाने के लिए पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा।

झारखंड के चक्रधरपुर में बुधवार की दोपहर बड़ा हादसा हो गया है। मुंबई-हावड़ा मुख्य रेलमार्ग पर बिंजय पुलिया के समीप राउरकेला से टाटानगर की ओर जा रही दुरंतो एक्सप्रेस की चपेट में आने से चार लोगों की घटनास्थल पर ही कटकर मौत हो गई।

जानकारी के अनुसार दुर्घटना में एक पुरुष व तीन महिलाओं की मौत हुई है। सभी बड़ाबाबों के तेलांगजुड़ी गांव के रहने वाले थे। मृतकों की पहचान सोमा पुरती (71 वर्ष), अमर पुरती (21 वर्ष), पत्नी बाह पुरती और अमर की बहन जेमा पुरती (18) के रूप में हुई। सभी बैंक का काम खत्म करने के बाद लौड़िया गांव के नरसिंह बोदरा अपने मामा घर जा रहे थे।

Police ने बताया कि विंजय रेलवे पुल में दुरंतो एक्सप्रेस के चपेट में आ गए। इस दुर्घटना में सभी के शरीर क्षत-विक्षत हो गए हैं। इसके कारण इनकी पहचान भी मुश्किल है। 

वहीं शरीर के टुकड़े रेल पटरी पर बिखर गए हैं। घटना बुधवार की दोपहर 3.30 बजे की है। घटना स्थल से एक बैग और मोबाईल सिम मिला है। बैग में चक्रधरपुर इलाहाबाद बैंक शाखा की पासबुक और आधार कार्ड मिले है। उससे पता चला की वह चारों बड़ाबाबों के तेलांगजुड़ी गांव के रहने वाले है।

घटना स्टेशन से हजार मीटर दूर घटी है। हादसे के बाद घटनास्थल पर स्थानीय लोगों की काफी भीड़ इकट्ठा हो गई। घटना की सूचना मिलने के बाद चक्रधरपुर थाना प्रभारी प्रवीण कुमार और रेलवे पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस को बल प्रयोग कर वहां से लोगों को हटाना पड़ा।

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read