झारखंड विधानसभा में सियासत का मुद्दा आज फिर वही नमाज अदा करने के लिए अलग कमरा। सोमवार को BJP विधायकों ने भजन-कीर्तन किया था । आज  मंगलवार को हनुमान चालीसा का पाठ किया गया।

इस दौरान सभी ने गले में जय श्रीराम का पट्‌टा भी बांधा।‌ BJP विधायक दल के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री बाबू लाल मरांडी ने कहा, 'विधानसभा को संकट से मुक्ति दिलाने के लिए हनुमान चालीसा का पाठ कर रहे हैं।'

पार्टी के चीफ ह्विप विरंची नारायण ने कहा, 'ये लोकतंत्र का मंदिर है। हम भी चाहते हैं कि यहां हनुमान चालीसा का पाठ न हो, लेकिन जब स्पीकर हेमंत सोरेन सरकार के इशारे पर यहां नमाज अदा करवा सकते हैं तो हमें भी यहां हनुमान चालीसा का पाठ करना होगा।'

इस मसले पर स्पीकर रवींद्र नाथ महतो ने कहा, 'विपक्ष को हनुमान जी सद्बुद्धि, बल और विद्या भी दें। भाजपा विधायक बता दें कि हनुमान चालीसा का पाठ कब और किस रूप में किया जाता है।' 

इन सबदो को ध्यान में  रख कर सोंचे की आख़िर क्यों स्पीकर रवींद्र नाथ महतो  और सोरेन सरकार ने 2 सितंबर को विधानसभा में नमाज के लिए कमरा नंबर TW-348 अलॉट किया गया है। इसके बाद से ही भाजपा विधायक पूजा के लिए भी अलग कमरे की मांग कर रहे हैं।

सारठ विधायक रंधीर सिंह ने कहा, 'सरकार जब तक नमाज अदा करने के लिए अलग कमरे के अलॉटमेंट का आदेश वापस नहीं ले लेती तब तक हम हनुमान चालीसा का पाठ करते रहेंगे।'

भाजपा के एक ओर  विधायक अमित मंडल ने कहा, 'ये सरकार तुष्टीकरण की राजनीति कर रही है। इससे जनता को मुक्ति दिलाने के लिए हम प्रदर्शन कर रहे हैं।'

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read