राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के सर संघचालक मोहन भागवत शुक्रवार को धनबाद में तीन दिनों तक रुककर प्रांत कार्यकारिणी, प्रचारक, संगठन पदाधिकारी और प्रबुद्ध-बुद्धिजीवियों के साथ बैठक करेंगे। तीनों दिन का कार्यक्रम राजकमल सरस्वती विद्या मंदिर, अशोक नगर धनसार में होगा।

संघ प्रमुख के कार्यक्रम में बिहार-झारखंड के पदाधिकारी, संघ कार्यवाह, महानगर और नगर के कार्यकर्ता मौजूद रहेंगे। कार्यक्रम में शामिल होने के लिए प्रांत के कई पदाधिकारी गुरुवार को ही धनबाद पहुंच गए हैं। संघ प्रमुख के साथ प्रांत प्रचारक दिलीप और क्षेत्र प्रचारक रामनवमी भी आ रहे है। इनके अलावा भाजपा के प्रदेश संगठन मंत्री के भी आने की सूचना है।

बैठक में 2024 तक बिहार औरझारखंड के सभी मंडलों और गांवों तक संघ की योजना और कार्यों को कैसे पहुंचाया जाए, इस पर मंथन किया जाएगा। संघ की प्रांत कार्यकारिणी में बिहार और झारखंड दोनों शामिल हैं, जिसे उत्तर-पूर्व क्षेत्र नाम दिया गया है।

संघ प्रमुख के आगमन को लेकर सुरक्षा का खास इंतजाम किए गए हैं। जिला प्रशासन की ओर से सशस्त्र पुलिस बल के साथ एक दर्जन दंडाधिकारियों को रेलवे स्टेशन से लेकर कार्यक्रम स्थल तक प्रतिनियुक्त किया गया है। उनके कार्यक्रम को लेकर DC व SSP ने ज्वाइंट ऑर्डर जारी किया है। गुरुवार को SSP, सिटी SP, ट्रैफिक DSP ने कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया।

प्रवास के अंतिम दिन रविवार को संघ प्रमुख शहर के प्रबुद्ध और बुद्धिजीवियों के साथ बैठक करेंगे। इस बैठक के लिए कितने लोगों को आमंत्रित किया गया है, यह अभी स्पष्ट नहीं है। प्रबुद्ध लोगों के साथ बैठक के पूर्व संघ प्रमुख मोहनभागवत नगर कार्यकारिणी, महानगर कार्यकारिणी केपदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करेंगे। दोपहरके बाद महानगर क्षेत्र में रहने वाले सभी प्रवासीकार्यकर्ताओंके साथ भी बैठक करेंगे। प्रवासी कार्यकर्ताओंमें संघ के पुराने कार्यकर्ता शामिल हैं।

संघ प्रमुख का दूसरे दिन का कार्यक्रम दोपहर के बाद ही शुरू होगा। दूसरे दिन प्रांत के संगठन स्तर के पदाधिकारियों विभाग के कार्यवाह औरविभिन्न इकाइयोंकेपदाधिकारियों और सदस्यों के साथ बैठक करेंगे। बैठक के दौरान संगठन विस्तार पर मंथन किए जाने की संभावना है। इस बैठक में भी शामिल होने वाले पदाधिकारियों की संख्या सीमित रखी गई है। कोरोना को देखते हुए अधिक संख्या पर जोर नहीं दिया गया है। कुल 30 लोगों के इस बैठक में शामिल होने की सूचना है।

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read