Pic:Advisor Madhukar Gupta

Governor’s Advisor Madhukar Gupta today exhorted the trainee officers of Jharkhand Administrative Service to use their talent and become party to the development of the state.

“You have got an excellent opportunity to change the face of the region”,said Gupta while addressing them at the Administrative Training Institute in Ranchi today.

A press release issued by the public relations department in Hindi said as follows:

राज्यपाल के सलाहकार श्री मधुकर गुप्ता ने आज स्थानीय श्री Ñष्ण लोक प्रषिक्षण संस्थान में झारखण्ड प्रषासनिक सेवा के प्रषिक्षु पदाधिकारियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आपके पास एक जबरदस्त मौका है, अपने क्षेत्र के तस्वीर को बदलने के लिए। राज्य के विकास हेतु विभिन्न योजनाओं के तहत राषि की कमी नही है, दृढ़ इच्छा शä एिवं प्रतिबद्धता के साथ आप क्षेत्र की तस्वीर को पूर्णतया बदल सकते हैं। आप अपने प्रतिभा का प्रदर्षन करें और राज्य के विकास में सहभागी बनें।

श्री गुप्ता ने कहा कि अधिकारियों को निष्पक्ष, विषयनिष्ठ, र्इमानदार, दृढ़ एवं पारदर्षी बनना होगा। यदि आप दृढ़ प्रतिज्ञ नही बनें तो अपनी जिम्मेवारियों को नही निभा सकेंगे। साथ ही पूरे उर्जावान रहते हुए अपने सीखने की इच्छा एवं क्षमता को बनाएं रखें। उन्होंने कहा कि आप प्रषिक्षु पदाधिकारी नर्इ उर्जा, नए आदर्ष से ओत-प्रोत हैं। इस स्वभाविक गुण को लेकर क्षेत्र प्रषिक्षण हेतु जिलों में जाएं। क्षेत्र में ही आपका आधारभूत व्यवहारिक प्रषिक्षण होगा। उन्होंने कहा कि आप लोगों के बीच सेवा की भावना से जाएं, यह कभी न सोचें की आप कुछ देने वाले हैं और आमजन आपसे कुछ लेने वाले हैं। आप पहले एक नागरिक हैं, सेवा के लिए हैं न कि शासन करने के लिए, इसे हमेषा ध्यान में बनाए रखें। कर्मियों के बीच भी यह स्थापित करें कि आप स्वयं अधिकाधिक समय तक एवं कुषलतापूर्वक सभी कार्य कर सकते हैं, तभी आप की प्रतिष्ठा बनेगी। इसके लिए प्रषिक्षण पर विषेष ध्यान दें तथा क्षेत्र भ्रमण आवष्य करें। सीखने के लिए आवष्यक है कि आप नीचले स्तर तक कर्मियों के बीच बैठें एवं उनसे सीखें। वे ही आप को नीचले स्तर तक के प्रषासन की व्यवहारिक जानकारी दे सकते हैं। पूर्ण जानकारी के बाद आप को कोर्इ भ्रमित नही कर सकेगा। श्री गुप्ता ने प्रषिक्षण के दौरान प्रषिक्षु पदाधिकरियों द्वारा विभिन्न योजनाओं पर तैयार किए गए प्रोजेक्ट की सराहना करते हुए कहा कि संबंधित विभागों को प्रोजेक्ट की प्रति आवष्य भेज दी जाए।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए महानिदेषक श्री Ñष्ण लोक प्रषिक्षण संस्थान श्री ए0के0पाण्डेय ने कहा कि आपको काम करना है, इस भावना के साथ आप क्षेत्र में जाएं। पर्यवेक्षण का कार्य बेहतर तरीके से वे अधिकारी ही कर सकते हैं, जो स्वयं काम को कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि प्रषासनिक अधिकारी के रूप में आपको कुछ शäयिँ दी गर्इ हैं, उसकी सीमा के अन्दर ही आप कार्य करें।

प्रधान सचिव कार्मिक प्रषासनिक सुधार एवं राजभाषा विभाग, श्री आदित्य स्वरूप ने कहा कि आज संस्थागत प्रषिक्षण पूर्ण होने के उपरांत जिला प्रषिक्षण हेतु प्रषिक्षुओं को भेजा जा रहा है, जहाँ कोषागार, राजस्व, न्यायिक, पुलिस प्रषिक्षण, सामान्य न्यायाचार, विकास, आपूर्ति, अनुमण्डल एवं प्रखण्ड स्तर का प्रषिक्षण दिया जाएगा। ग्रास रूट स्तर पर किस प्रकार प्रषासन का कार्य होता है, उसे सीखें। उन्होंने कहा कि सरकारी राषि के व्यय में अधिकाधिक सतर्कता बरतने की आवष्यकता है। राजस्व नियमों की जानकारी हासिल करते हुए भूमि हस्तांतरण में सतर्कता बरतने की आवष्यकता है। हमें सरकारी भूमि को बचा कर रखना है।

--------------------------Advertisement--------------------------1000 days of Hemant Govt

must read