Jharkhand Chief Secretary RS Sharma today observed that the state government’s portal-Jharkhandsamadhan.nic.in-can be useful in redressing the grievances of the common people.

Sharma also reviewed the Sanjeevani project sponsored by the state rural development department.

In this regard,the public relations department issued two press releases in Hindi.In the first release,it said as follows:

”झारख.ड-संवाद ,वं समाधान के तहत बना, ग, वेब सार्इट झारख.ड समाधान डाट ,न0आर्इ0सी डाट र्इन की समीक्षा करते हु, मुख्; सचिव श्री आर0,स0शर्मा ने कहा कि ;ह व्;वस्था आमजन की समस्;ाओं की निवार.ा में निगरानी हेतु महत्वपूर्.ा भूमिका निभा सकती है, हमें इसका प्रभावशाली तरीके से उप;ोग करने की आवश्;कता है। उन्होंने इसे आमजन के लि, अधिक सुविधाजनक ,वं उप;ोगी बना, जाने की आवश्;कता पर बल दि;ा तथा कहा कि वेब पेज के मुख्; पृष्ट को अत्;धिक आकर्षक ,वं सूचना पूरक बना, जाने की आवश्;कता है। उन्होंने कहा कि इस व्;वस्था के लागू होने से बेहतर प्रबंधन के साथ ही साथ समेकित डाटा बेस तै;ार हो सकेगा तथा राज्; स्तर पर कार्;रत वरी; अधिकारीग.ा दूरस्थ कार्;ाल;ों में जन शिका;तों के निवार.ा की अध्;तन सिथति को जान सकेंगे।

मुख्; सचिव ने प्रधान सचिव सूचना तकनीक श्री ,न0,न0सिन्हा के साथ केन्द्रीÑत लोक शिका;त और निगरानी प्र.ााली (ब्मदजतंसपेमक चनइसपब हतपमअंदबम तमक तमेेंस ंदक उवदपजवतपदहेलेजमउ) के विकास के मíेनजर तै;ार इस वेब सार्इट के प्रजेंटेशन के अवलोकन करते हु, कहा कि इस व्;वस्था से सरकार ,वं नागरिकों के बीच की दूरी होगा। इसे राज्; सरकार से संब) कार्;ाल;ों के साथ ही साथ भारत सरकार के कार्;ाल;ों से भी जोड+ा जाना चाहि, ताकि आमजन के शिका;तों का निवार.ा, राज्; सरकार अथवा केन्द्र सरकार के किसी भी विभाग से संबंधित हो, का निराकर.ा कि;ा जा सके। लोगों की शिका;त लिखित :प से भी प्राप्त होती है, उसे स्कैन करते हु, वेब सार्इट पर डाला जा;। फार्इल ट्रैकिंग सिस्टम की तरह स्कैन लेटर ट्रैकर की भी व्;वस्था की जा सकती है।

मुख्; सचिव ने इस प्र.ााली के प्रजेंटेशन के अवलोकन के पष्चात कहा कि वेब सार्इट उप;ोगी है, परन्तु कुछ सुधार की भी आवश्;कता है। आमजन को अपनी समस्;ा के समाधान हेतु विभाग के स्व;ं च;न करने की आवश्;कता नहीं होनी चाहि, ;ह विकल्प वेब सार्इट के माध्;म से स्वत: प्राप्त होना चाहि,। उनके द्वारा दि, ग, शिका;त के निवार.ा से संबंधित सूचना उन्हें ,स0,म0,स0 के माध्;म से भी मिल सके। जन शिका;तों की गर्इ कार्रवार्इ की अध्;तन सिथति शिका;तकर्ता वेब सार्इट के माध्;म से कर सकते हैं, इसके लि, वेब सार्इट पर सर्च माड;ूल बना, ग, हैं। मुख्; सचिव ने सर्च माड;ूल को और अधिक सुविधाजनक बनाने का सुझाव दि;ा।

The second press release said as follows:

ग्रामीण विकास विभाग के तहत चल रहे संजीवनी प्रोजेक्ट की समीक्षा बैठक को संबोधित करते हुए मुख्य सचिव श्री आर0एस0शर्मा ने कहा कि विभिन्न विभागों द्वारा चलाए जा रहे योजनाओं के कार्यान्वयन की जवाबदेही संबंधित विभाग की होनी चाहिए। कार्यों के ओवरलैपिंग से क्रियान्वयन की गुणवत्ता पर विपरीत प्रभाव पड़ता है।

ग्रामीण विकास विभाग के प्रधान सचिव श्री आर0एस0पोíार सहित संजीवनी प्रोजेक्ट के प्रतिनिधियों के साथ उन्होंने प्रोजेक्ट के कार्यों से संबंधित प्रजेंटेशन का अध्ययन किया। संजीवनी प्रोजेक्ट के तहत राज्य के 13 जिलों में 29 प्रखण्डों में महिला स्वयं सहायता समूहों के सशकितकरण, गरीब परिवारों के आजीविका हेतु प्रशिक्षण, उनके लाभार्थ बीमा योजना, किसानों के लिए श्रीविधि से उत्पादन के प्रशिक्षण इत्यादि के कार्य किए जा रहें हैं। इस योजना का मुख्य उíेश्य सरकारी योजनाओं का अधिकाधिक लाभ प्राप्त करने हेतु आमजन में जागरूकता फैलाने की है। मुख्य सचिव ने कहा कि संजीवनी प्रोजेक्ट द्वारा चलाए जा रहे कार्य Ñषि, स्वास्थ्य, कल्याण इत्यादि विभागों द्वारा चालार्इ जा रही योजनाओं से मिलती जुलती है। प्रोजेक्ट के कार्य स्पष्ट होने चाहिए।

--------------------------Advertisement--------------------------1000 days of Hemant Govt

must read