-

झारखंड में राजनीतिक गर्मी तेज हो गई है।इस बार झामुमो के १२ विधायक ने पार्टी विधायक सीता सोरेन और लोबिन हेंब्रम पर भाजपा के संपर्क में होने का आरोप लगाया है।

ये १२ विधायक दोनों ही विधायकों की शिकायत पार्टी अध्यक्ष शिबू सोरेन और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पत्र लिख कर सूचित किया है .

शिकायत करनेवाले विधायकों का कहना है कि ये दोनों विधायक लगातार संगठन विरोधी गतिविधियों में शामिल रहे है़ं और बताया है कि हेमंत सरकार गिराने की मुहिम में ये दोनों विधायक पार्टी के निष्कासित पूर्व कोषाध्यक्ष रवि केजरीवाल के संपर्क में भी है़ं.इनके साथ दोनों विधायकों की सांठगांठ है. 

ऐसे संकेत हैं कि पार्टी नेतृत्व इन विधायकों पर कार्रवाई कर सकता है़.

इतिहास के पन्नो में वर्ष 2012 राज्यसभा चुनाव के दौरान पैसे के लेन-देन का मामला सामने आया था़ उस समय हॉर्स ट्रेडिंग में विधायक सीता सोरेन और लोबिन हेंब्रम का नाम उछला था़ इस मामले में सीता सोरेन को आरोपी बनाया गया था़ सीबीआइ ने जांच की थी़ विधायक सीता सोरेन को जेल भी जाना पड़ा था़ वर्तमान में इस मामले में सीबीआइ की जांच चल रही है और मामला कोर्ट में लंबित है.

“मैंने पार्टी विरोधी कुछ कार्य नहीं किया है. जो सही है, वह जरूर कहती हूं. जनता सब देख रही है़ गलत होता है, तो आवाज उठाती हूं. अगर शिकायत की गयी है, तो भी सबने यह रो-रोकर लिखा होगा. अंदर से सब दुखी हैं. सरकार गिराने की साजिश का आरोप गलत है. हम अपना काम कर रहे हैं. जो लोग सरकार गिराने का प्रयास कर रहे हैं, वही मुझ पर आरोप लगा रहे हैं.”

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read