पहले तथ्य जानिए।

*अब नये मतदाताओं को पंजीकरण के लिए मिलेंगी 1 जनवरी,1 अप्रैल,1 जुलाई और 1 अक्टूबर की चार अर्हता तिथि

*मतदाता पहचान पत्र आधार नंबर से होगा लिंक 

--------------------------Advertisement--------------------------Birsa Jayanti

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री के0 रविकुमार ने कहा कि नये मतदाताओं का पंजीकरण अब और आसान हो गया है. अब नये मतदाताओं को पंजीकरण के लिये चार अर्हता तिथि 1 जनवरी, 1 अप्रैल, 1 जुलाई और 1 अक्टूबर मिलेंगी । इसकी शुरुआत सोमवार 1 अगस्त 2022 से हो रही है। उक्त जानकारी उन्होंने सोमवार को आयोजित प्रेस वार्ता में दी।


*वोटर कार्ड को आधार कार्ड से जोड़ने की शुरुआत 1 अगस्त 2022 से*

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री के0 रवि कुमार ने कहा कि मतदाता वोटर कार्ड को आधार कार्ड से जोड़ सकते हैं, इसकी भी शुरुआत 1 अगस्त 2022 से की जा रही है। उन्होंने कहा कि यदि किसी मतदाता के पास आधार कार्ड नहीं है, तो फिर वे अधिसूचित 11 दस्तावेजों में से कोई एक से भी वोटर कार्ड लिंक कर सकते है।

*मतदाता वोटर कार्ड को आधार कार्ड से ऑनलाईन कर सकते है लिंक*

आधार कार्ड से मतदाता पहचान पत्र जोड़ने के संबंध में मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री के0 रवि कुमार ने बताया कि मतदाताओं को अपना आधार नंबर ऑनलाइन जोड़ने के लिए एनवीएसपी, वीएचए एप्लीकेशन आदि में सुविधा प्रदान की जाएगी। मतदाता स्वप्रमाणन के लिए मतदाता पोर्टल/एप पर ऑनलाइन प्रपत्र.6 बी भर सकते हैं और यूआईडीएआई के साथ पंजीकृत अपने मोबाइल नंबर पर प्राप्त होने वाले ओटीपी का उपयोग कर आधार को प्रमाणित कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि यदि मतदाता स्वयं प्रमाणित करने में असुविधा महसूस करता है, तो उनकी सुविधा के लिये बूथ लेवल अधिकारी को घर-घर सत्यापन के लिए नियुक्त किया गया है। सभी ऑफलाइन प्राप्त प्रपत्र.6बी को बूथ लेवल अधिकारी गरुड़ एप का उपयोग कर या अधिकारी फार्म प्राप्त होने के सात दिन के भीतर डिजिटिलाइज किया जाएगा।

must read