*All images by IPRD, Jharkhand

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि भगवान बिरसा मुंडा स्मृति पार्क को देश का सबसे बेहतर शहीद स्मारक स्थल बनाना है। इसके लिए ज्यादा से ज्यादा शोध करें। यहां यूनिक आइडिया लगायें। जेल का चित्रण ऐसे हो कि लोग भगवान बिरसा मुंडा के समय को अहसास कर सकें। पुराने भवनों के साथ किसी प्रकार की छेड़छाड़ न हो। यहां भगवान बिरसा मुंडा की सबसे बड़ी प्रतिमा भी लगायी जायेगी। साथ ही झारखंड के वीर सैनिक जो सीमा पर मां भारती की रक्षा करते हुए शहीद हुए हैं, उनकी तसवीर भी यहां लगायी जायेगी।मुख्यमंत्री ने कहा कि सैनिक सीमा पर किस परिस्थिति में रहते हैं इसका भी अनुभव यहां आने वाले लोगों को मिले। उक्त बातें उन्होंने भगवान बिरसा मुंडा स्मृति पार्क में होनेवाले काम के प्रजेंटेशन के दौरान कहीं। 

-----------------------------Advertisement------------------------------------Savtribai Phule Kishori Samriddhi Yojna

मुख्यमंत्री कहा कि भगवान बिरसा मुंडा की पूरी जीवनी यहां प्रदर्शित की जाये। साथ ही आजादी के आंदोलन में अपना जीवन बलिदान करनेवाले अन्य ट्राइबल लीडर के बारे में भी बतायें, ताकि लोग उनके बारे में ज्यादा से ज्यादा जानें। यहां पुराना चिकित्सालय है, उसे भी पूराने जमाने के अनुसार बनायें। रसोई में उसी जमाने के बर्तन रखें। उन्होंने कहा कि परिसर में एक ओर बच्चों के लिए चिल्ड्रेन पार्क बनायें। यह पार्क सामान्य पार्क जैसा न हो। यहां बच्चों को आकर्षित करनेवाली चीजें रहें, जो अब तक झारखंड के पार्कों में न हो। बगल में स्थित तालाब में प्रवेश के लिए अंडर पास रहे। यहां बोटिंग की ऐसी सुविधा हो, जो अभी तक रांची में नहीं है । मुख्य परिसर में रिवॉल्विंग रेस्टूरेंट भी बनायें। इसे शंघाई में बनें रेस्टूरेंट की तर्ज पर तैयार किया जा सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यटन के विकास से लोगों को बड़ी संख्या में रोजगार मिलेगा। साथ ही यहां की अर्थव्यवस्था को भी काफी लाभ मिलेगा।

बैठक में नगर विकास मंत्री सीपी सिंह, कल्याण मंत्री डॉ लुईस मरांडी, मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी, अपर मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव सुनील कुमार बर्णवाल, नगर विकास सचिव अजय कुमार सिंह, कल्याण सचिव हिमानी पांडेय, रांची नगर आयुक्त शांतनु अग्रहरि समेत बड़ी संख्या में गण्यमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

must read