झारखंड में कोरोना के कहर के बीच सरकार ने राज्य के प्राइवेट और सरकारी सभी अस्पतालों में 70 फीसदी बेड कोविड मरीजों के लिए रिजर्व रखने का निर्देश दिया है। प्रभारी हेल्थ सेक्रेटरी अरुण कुमार सिंह ने सभी जिलों के DC के साथ सिविल सर्जन को इसे जल्द लागू करने का आदेश दिया है।

हेल्थ सेक्रेटरी ने कहा है कि पिछले 9 दिनों में राज्य में 750 लोगों की मौत कोविड से हो गई है। वहीं 30 दिन में एक्टिव मरीजों की संख्या 3352 से बढ़कर 57716 हो गया है। मरीज और मौत में लगातार हो रही वृद्धि के मद्जेनर जरूरी है कि सभी अस्पतालों में उपलब्ध बेड की संख्या बढ़ाई जाए। अभी तक निजी अस्पतालों में 50 फीसदी बेड ही कोविड मरीजों के लिए रिजर्व थे। 


बेड की संख्या बढ़ाने के साथ ही हेल्थ सेक्रेटरी ने अस्पातलों में अलग से आइसोलेशन वार्ड भी तैयार करने के लिए कहा है। ताकि ऐसे संक्रमित जिनका ऑक्सीजन सैचुरेशन सामान्य हो, उन्हें रखा जा सके। अगर आपात स्थिति में ऐसे व्यक्तियों को ऑक्सीजन की जरूरत पड़ जाए तो हॉस्पिटल में उपलब्ध बेड के हिसाब से प्राथमिक्ता के आधार पर इन्हें एडमिट किया जा सके। 

रांची में अभी सरकारी और प्राइवेट 44 हॉस्पिटल्स में 3829 बेड कोविड मरीजों के लिए हैं। इस सप्ताह तक 400 नए कोविड बेड तैयार हो जाएंगे। नई व्यवस्था के बाद निजी अस्पतालों में भी लगभग 500 बेड बढ़ने की उम्मदी है। इस सप्ताह के आखिर तक रांची में कोविड मरीजों के लिए लगभग 5 हजार बेड होने की उम्मीद है। रांची में फिलहाल 19353 एक्टिव मरीज हैं। पिछले 24 घंटे में 1297 नए मरीज मिले हैं। 45 संक्रमितों की मौत हुई है 663 डिस्चार्ज हुए हैं।

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read