केंद्रीय राज्य मंत्री, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी, कौशलविकास और उद्यमिता, भारत सरकार की मुख्य घोषणाएं:—

"आज हम 2021 में हैं। और अगर हम रिपोर्ट कार्ड बनाएं, तोटेक्नोलॉजी के द्वारा लोगों के जीवन में  बदलाव लाने का जो हमारालक्ष्य हैं, उसमें हम बहुत आगे बढ़े हैं।"
"पिछले एक साल में भारत में रिकॉर्ड एफडीआई आया है। अब हरमहीने हम 2 यूनिकॉर्न खड़ा कर रहे हैं। भारत को दुनिया में सबसे तेज़ीसे बढ़ता हुआ स्टार्टअप इकोसिस्टम बना रहे हैं।"
"हम यहां छोटा बेंगलुरु नहीं, बड़ा आगरा बनाएंगे। डिजिटल उत्तरप्रदेश बनाएंगे।"
"हाइवेज़ बनना ज़रूरी है। लेकिन यह जो आई-वेज़ है, इंटरनेट का जोइंफ्रास्ट्रक्चर हैं, उसके कारण हम यह इंटरनेट एक्सचेंज का शुभारंभकर रहे हैं।"

डिजिटल यूपी को मिली रफ्तार, अब सबसे तेज दौड़ने को उत्तरप्रदेश तैयार

नेशनल इंटरनेट एक्सचेंज ऑफ इंडिया (निक्सी) ने लॉन्च किए उत्तरप्रदेश में 7 नए इंटरनेट एक्सचेंज
इंटरनेट एक्सचेंज को प्रयागराज, गोरखपुर, लखनऊ, वाराणसी, मेरठ, कानपुर और आगरा में एक साथ किया गया लॉन्च
 

देश के माननीय राज्य मंत्री, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी, कौशल विकास और उद्यमिता, भारत सरकार श्री राजीव चंद्रशेखर केसाथ एसपी सिंह बघेल माननीय राज्य मंत्री (कानून और न्याय) औरअनिल कुमार जैन सीईओ, NIXI ने उत्तर प्रदेश के कई शहरों में 7 नएइंटरनेट एक्सचेंज नोड्स का उद्घाटन किया। मुख्य कार्यक्रम आगरा मेंगुरुवार 23 दिसंबर 2021 को सुबह 11 बजे आयोजित किया गया।भारत में NIXI के इन नए इंटरनेट एक्सचेंजों के उद्घाटन से उत्तर प्रदेशऔर आसपास के क्षेत्रों में इंटरनेट और ब्रॉडबैंड सेवाओं की गुणवत्ताको बढ़ाने और सुधारने में मदद मिलेगी, साथ ही उनके द्वारा प्रदानकिया गया इंटरनेट लोगों के जीवन में बदलाव लाएगा।

--------------------------Advertisement--------------------------Birsa Jayanti

इंटरनेट एक्सचेंज को प्रयागराज, गोरखपुर, लखनऊ, वाराणसी, मेरठ, कानपुर और आगरा में एक साथ लॉन्च किया गया। इससे पूरे उत्तरप्रदेश में अब 8 इंटरनेट एक्सचेंज हो जाएंगे।

उत्तर प्रदेश के "डिजिटल आत्मनिर्भर" होने से लोगों को हाई स्पीडइंटरनेट सेवाएं कम दामों पर मिलेगी। साथ ही राज्य में रोजगार केअवसर भी बढ़ेंगे। 'निक्सी' निकट भविष्य में टियर-2 और टियर-3 शहरों में भी इस तरह के कई इंटरनेट एक्सचेंज लॉन्च करने कीयोजना पर काम कर रहा है।

लॉन्चिंग कार्यक्रम में मुख्य अतिथि राजीव चंद्रशेखर, "माननीय राज्यमंत्री, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी, कौशल विकास औरउद्यमिता, भारत सरकार" ने कहा,"ये सिर्फ डबल इंजन की सरकारनहीं, बल्कि डबल डिजिटल इंजन की सरकार भी है, जो देश औरप्रदेश के विकास को एक ऐतिहासिक और तेज गति दे रही है। अबदुनिया उत्तर प्रदेश को एक बड़े वैश्विक हब और निवेश के पसंदीदास्थल के रूप में देख रही है।

उन्होंने कहा कि अब उत्तर प्रदेश पूरे देश में सबसे तेज गति से डिजिटलहब बनने की ओर भी अग्रसर हो रहा है। ये डिजिटल इंडिया की ताकतही थी कि आज देश 135 करोड़ भारतीयों को वैक्सीन की डोज देनेका आकड़ा पार कर चुका है, जिससे कोरोना महामारी के खिलाफलड़ाई में देश को जीत मिली है। निक्सी के सहयोग से आजप्रयागराज, गोरखपुर, लखनऊ, वाराणसी, मेरठ, कानपुर और आगरामें एक साथ 7 इंटरनेट एक्सचेंज लॉन्च हो रहे हैं।

श्री सत्य पाल सिंह बघेल, माननीय राज्य मंत्री, कानून और न्याय, भारत सरकार ने मुख्य अतिथि से आग्रह करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेशदेश में सबसे बड़ी आबादी वाला राज्य है। ऐसे में उत्तर प्रदेश जितनामजबूत होगा, देश उतना ही मजबूत होता चला जाएगा। उन्होंने कहाकि ये इंटरनेट क्रांति की ही ताकत है कि कोरोना काल में जब एकपल को लगा कि सब कुछ थम जाएगा, तब इंटरनेट ने आम लोगों केजीवन को रफ्तार दी और सभी काम बिना रुके चलने लगे।

उन्होंने कहा कि आगरावासियों का सपना है कि हमारा आगरा शहरआईटी हब बेंगलुरु और हैदराबाद की तरह एक नया आईटी हब बने।प्रदेश की युवा शक्ति में टैलेंट की भरमार है। हमारे पास वो सब चीजहै, जो देश को वैश्विक और आईटी हब बना सकती है। आगरा मेंआईटी पार्क होना चाहिए। क्यूंकि, जब आप उत्तर प्रदेश में ऐसेअभिनव प्रयोग करेंगे, तो राज्य के युवाओं को ज्यादा से ज्यादारोजगार के अवसर मिलेंगे और डिजिटल इकोनॉमी को भी बूस्टमिलेगा।

इसका जवाब देते हुए केंद्रीय राज्य मंत्री श्री राजीव चंद्रशेखर ने कहाकि "आज हम 2021 में हैं। और अगर हम रिपोर्ट कार्ड बनाएं, तोटेक्नोलॉजी के द्वारा लोगों के जीवन में  बदलाव लाने का जो हमारालक्ष्य हैं, उसमें हम बहुत आगे बढ़े हैं। पिछले एक साल में भारत मेंरिकॉर्ड एफडीआई आया है। अब हर महीने हम 2 यूनिकॉर्न खड़ा कररहे हैं। भारत को दुनिया में सबसे तेज़ी से बढ़ता हुआ स्टार्टअपइकोसिस्टम बना रहे हैं। हम यहां छोटा बैंगलोर नहीं, बड़ा आगराबनाएंगे। डिजिटल उत्तर प्रदेश बनाएंगे। हाइवेज़ बनना ज़रूरी है।लेकिन यह जो आई-वेज़ है, इंटरनेट का जो इंफ्रास्ट्रक्चर हैं, उसकेकारण हम यह इंटरनेट एक्सचेंज का शुभारंभ कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि इससे पूरे उत्तर प्रदेश में सिर्फ 1 इंटरनेट एक्सचेंज था, जो नोएडा में था। आज 7 नए इंटरनेट एक्सचेंज लॉन्च होने के बादअब उत्तर प्रदेश में कुल 8 इंटरनेट एक्सचेंज हो जाएंगे। इससेडिजिटल इकोनॉमी को बूस्ट मिलेगा। कोरोना काल जब लोगों केसामने घर में ही रहने और बाहर निकलने की बाध्यता रहती है...तो ऐसेमें ऑनलाइन शिक्षा प्रदेश के कोने-कोने तक पहुंचाकर देश के भविष्यका निर्माण कार्य आज हो रहा है। किसान साथी आज सीधेऑनलाइन कृषि मंडी से जुड़कर सरकारी सेवाओं का सीधा लाभ लेपा रहे हैं।

सही मायनों में कहें तो हर गरीब, जरूरतमंद और देश में अंतिमपायदान पर खड़े व्यक्ति को आज सरकारी योजनाओं का सीधा लाभमिल रहा है, जिसका सपना दूरदर्शी विचारों के धनी पंडित दीनदयालउपाध्याय जी ने भी देखा था। नए इंटरनेट एक्सचेंज बनने से अब राज्यसरकार, स्टूडेंट्स, स्टार्टअप्स, इंटरप्रिन्योर, किसानों, व्यापारियों, बैंकोंऔर ग्राहक सेवा केंद्रों में काम की रफ्तार बढ़ेगी। देश में 'डिजिटलइंडिया' के सपनों को अब 'डिजिटल यूपी' से रफ्तार मिली है।

अब पीएम मोदी के सपनों को साकार करने की दिशा में यूपी अब पूरेदेश में सबसे तेज गति से आगे बढ़ रहा है। निक्सी के इन नए इंटरनेटएक्सचेंजों के उद्घाटन से उत्तर प्रदेश और आसपास के क्षेत्रों में इंटरनेटऔर ब्रॉडबैंड सेवाओं की न सिर्फ गुणवत्ता को बढ़ाने और सुधारने मेंमदद मिलेगी, बल्कि आम लोगों को भी सस्ते दामों पर हाई स्पीड डेटाउपलब्ध होगा।

एनआईएक्सआई के बारे में

नेशनल इंटरनेट एक्सचेंज ऑफ इंडिया (निक्सी) एक गैर-लाभकारीसंगठन है जो वर्ष 2003 से निम्नलिखित कार्यों के ज़रिए भारत केनागरिकों तक इंटरनेट टैक्नोलॉजी पहुंचाने का काम कर रहा है: -

  1. इंटरनेट एक्सचेंज जिनके माध्यम से आईएसपी औरआईएसपी व सीडीएन के बीच इंटरनेट डेटा का एक्सचेंज होताहै

ii) भारत के लिए .IN कंट्री कोड डोमेन और .भारतआईडीएन डोमेन की बिक्री, प्रबंधन और संचालन

iii) एपीएनआईसी, ऑस्ट्रेलिया द्वारा अधिकृत इंटरनेटप्रोटोकॉल (आईपीवी4/आईपीवी6) की बिक्री, प्रबंधनऔर संचालन

must read