खूंटी जिला के कालामाटी स्थित कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में विशेष कार्यक्रम का आयोजन हुआ। इस अवसर पर जागरूकता रैली, सेमिनार, सांस्कृतिक गीत एवं नृत्य आदि का आयोजन हुआ। 

साथ ही गुरुवार दिनांक 10 नवंबर को कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय, कालामाटी में आयोजित रंगोली, चित्रांकन एवं निबंध प्रतियोगिता में विजयी 20 प्रतिभागियों को अतिथियों द्वारा पुरस्कृत किया गया।

कार्यक्रम का शुभारंभ धरती आबा भगवान बिरसा मुंडा एवं वीर सिद्धू कान्हू की तस्वीर पर माल्यार्पण एवं श्रद्धा सुमन अर्पित कर किया गया। तत्पश्चात खूंटी के जिला शिक्षा पदाधिकारी श्री अतुल कुमार चौबे, झारखंड शिक्षा परियोजना, खूंटी के अतिरिक्त कार्यक्रम पदाधिकारी श्री नलिनी रंजन, खूंटी प्रखंड कल्याण पदाधिकारी श्री अनिल दुबे, फूदी पंचायत की मुखिया श्रीमती अनिमा कच्छप, कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय की वार्डन श्रीमती ज्योति कुमारी एवं केंद्रीय संचार ब्यूरो की क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी श्रीमती महविश रहमान ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित किया। 

--------------------------Advertisement--------------------------Birsa Jayanti

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के पंजीकृत सांस्कृतिक दल लोकनाथ लोहरा कला जत्था एवं कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय, कालामाटी की छात्राओं ने स्वागत गीत प्रस्तुत किया। मंच पर उपस्थित सभी अतिथियों का विधिवत स्वागत केंद्रीय संचार ब्यूरो, गुमला की क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी श्रीमती महविश रहमान ने अंग वस्त्र और पौधा दे कर किया।

मुख्य अतिथि के रूप में सभा को संबोधित करते हुए खूंटी के जिला शिक्षा पदाधिकारी श्री अतुल कुमार चौबे ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा जनजातीय गौरव दिवस की घोषणा से हम देश के उन जनजातीय वीरों और वीरांगनाओं की महती भूमिका को याद कर पा रहे हैं जिन्होंने देश की आजादी के लिए अदम्य साहस दिखाया और अपने प्राणों की आहुति दी। उन्होंने जनजातीय गौरव दिवस पर प्रतियोगिताएं आयोजित करने के लिए केंद्रीय संचार ब्यूरो, गुमला को सराहा और आगे भी ऐसे कार्यक्रमों के लिए शुभकामनाएं दीं।

झारखंड शिक्षा परियोजना, खूंटी के अतिरिक्त कार्यक्रम पदाधिकारी श्री नलिनी रंजन ने कहा कि जिस तरह धरती आबा भगवान बिरसा मुंडा ने भारत की आजादी के लिए अपना संपूर्ण जीवन लगा दिया, हम सब को उनके प्रति हमेशा कृतज्ञ रहना चाहिए।इस कार्यक्रम से हम देश के जनजातीय स्वतंत्रता सेनानियों की महती भूमिका को याद कर सकेंगे जिन्होंने देश के लिए अपने प्राणों की आहुति दी।

खूंटी प्रखंड कल्याण पदाधिकारी श्री अनिल दुबे ने कहा कि जनजातीय गौरव दिवस पर आने वाली पीढ़ियां हमारे देश एवं झारखंड के महान जनजातीय स्वतंत्रता सेनानियों के त्याग, संघर्ष व बलिदानों के बारे में जान सकेंगे। इस तरह के कार्यक्रम के माध्यम से सभी लोगों को अपने महापुरुषों के व्यक्तिव एवं कृतत्व से अवगत होने का अवसर मिलता है।

मुखिया श्रीमती अनिमा कच्छप ने अपने संबोधन में कहा कि आज के युवाओं को भगवान बिरसा मुंडा एवं अन्य जनजातीय स्वतंत्रता सेनानियों के जीवन को हमेशा याद रखना चाहिए। जिस तरह झारखंड के वीरों और वीरांगनाओं ने देश की आजादी के लिए अदम्य साहस दिखाया, हमें हमेशा उनसे प्रेरणा लेनी चाहिए।

इससे पूर्व विषय प्रवेश करवाते हुए केंद्रीय संचार ब्यूरो गुमला की क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी श्रीमती महविश रहमान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत सरकार ने भारतीय इतिहास और संस्कृति में जनजातियों के विशेष योगदान को सम्मानित करने व पीढ़ियों को इस सांस्कृतिक विरासत से प्रेरित करने के उद्देश्य से भगवान बिरसा मुंडा की जयंती 15 नवंबर को "जनजातीय गौरव दिवस" घोषित करने का निर्णय ​लिया है। इसी क्रम में केंद्रीय संचार ब्यूरो, गुमला द्वारा इस दो दिवसीय विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया है।

प्री प्रोगाम के तहत कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय, कालामाटी के प्रांगण में बालिका विद्यालय परिसर में 'आजादी का अमृत महोत्सव' एवं 'झारखंड के वीर स्वतंत्रता सेनानी' विषय पर 10 नवंबर को रंगोली, निबंध एवं निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था जिन के विजेताओं को गणमान्य अतिथियों द्वारा स्कूल बैग देकर पुरस्कृत किया गया। चित्रांकन प्रतियोगिता में लक्ष्मी परधिया, यशोदा कुमारी, खुशबू कुमारी, रिया कुमारी, सीमा स्वनसी, दीपिका कुमारी विजई हुए। निबंध प्रतियोगिता के विजेता रहे चंद्रिका कुमारी, सिमरन कश्यप, प्रियांशी कुमारी, आरती कुमारी, बसंती कुमारी, दुर्गेश्वरी कुमारी, संस्कृति कुमारी, सुरभि कश्यप। रंगोली प्रतियोगिता में छोटी कुमारी ग्रुप, तृषा कुमारी ग्रुप, जयंती कुमारी ग्रुप, अनु कुमारी ग्रुप, माही कुमारी ग्रुप, स्वाति कुमारी ग्रुप पुरस्कृत हुए।

इस अवसर पर जागरूकता रैली निकाली गई जिसे मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथियों ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। रैली प्रारंभ होने से पूर्व प्रतिभागियों के बीच केंद्रीय संचार ब्यूरो द्वारा टोपी का वितरण किया गया। सभी प्रतिभागियों ने बिरसा मुंडा अमर रहे, जनजातीय गौरव दिवस जिंदाबाद का नारा लगाते हुए पूरे जोश के साथ रैली को पूरा किया।

धन्यवाद ज्ञापन करते हुए कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय, काला माटी की वार्डन श्रीमती ज्योति कुमारी ने कहा कि आज आयोजित केंद्रीय संचार ब्यूरो, गुमला का यह कार्यक्रम यहां के युवाओं, जो इस देश के भविष्य हैं, को जागृत करने में एक अहम भूमिका निभायेगा।

कार्यक्रम में दर्शक दीर्घा के रूप में करीब 500 छात्राओं के अलावा शिक्षिकाओं में मीनू बड़ाईक, रेणुका कुमारी के साथ विद्यालय के समस्त शिक्षिकाएं एवं कर्मचारीगण, विद्यालय प्रबंधन समिति के सदस्य, ग्रामीणजन, समाजसेवी एवं अन्य प्रबुद्ध नागरिक उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन क्षेत्रीय प्रचार सहायक श्री अंजनी मिश्रा ने किया, साथ ही संजय साहू की महती भूमिका रही। स्थानीय मीडिया के प्रतिनिधि भी कार्यक्रम को कवर करते रहे।

ज्ञात हो कि भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के केंद्रीय संचार ब्यूरो, प्रादेशिक कार्यालय, रांची द्वारा 15 नवंबर को पांच दिवसीय मल्टीमीडिया प्रदर्शनी का उद्घाटन खूंटी स्थित बिरसा मुंडा कॉलेज परिसर में जनजातीय मामलों के केंद्रीय मंत्री माननीय श्री अर्जुन मुंडा के कर कमलों द्वारा किया जायेगा। इस प्रदर्शनी में भगवान बिरसा मुंडा के साथ शहीद बुधु भगत, सिद्धू-कान्हू, नीलांबर-पीतांबर, शेख भिखारी, तेलंगा खड़िया, फूलो जाहनो, टिकैत उमराव सिंह जैसे विभिन्न जनजातीय स्वतंत्रता सेनानियों को भी रेखांकित किया जाएगा। साथ ही भगवान बिरसा मुंडा के पैतृक आवास उलीहातू, खूंटी में भी केंद्रीय संचार ब्यूरो, प्रादेशिक कार्यालय रांची द्वारा उनकी जीवनी पर चित्र प्रदर्शनी लगाई जाएगी।

must read