शारजाह में आयोजित हुए एशिया कप में इतिहास रचने वाली भारतीय जूनियर तीरंदाजी टीम के खिलाड़ियों ने आज दिल्ली में केंद्रीय जनजातीयमंत्री और भारतीय तीरंदाजी संघ (एएआई) के अध्यक्ष श्री अर्जुन मुंडा से मुलाकात की | श्री अर्जुन मुंडा ने अपने आवास पर तीरंदाजी टीम का स्वागत किया| केंद्रीय मंत्री ने खिलाड़ियों, सचिव, टीम कोच व हाई परफोर्मर डायरेक्टर को बधाई दी व भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी| 

भारतीय जूनियर तीरंदाजों ने शारजाह में आयोजित एशिया कप के तीसरे चरण में अपना वर्चस्व कायम रखते हुए पांच स्वर्ण समेत 10 पदक जीते।कंपाउंड वर्ग में भारत ने आठ में से सात पदक जीते और व्यक्तिगत महिला वर्ग में 'क्लीन स्वीप' किया जिसमें प्रगति, अदिति स्वामी और परनीत कौर ने शीर्ष तीन स्थानों पर कब्जा किया।

इस अवसर पर श्री अर्जुन मुंडा ने कहा कि इन खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए एशिया कप, शारजाह में भारत के लिए 10 पदक जीते | भारतीय जूनियर तीरंदाजी टीम ने 5 स्वर्ण, 3 रजत और 2 कांस्य पदक जीतकर पदक रैंकिंग में शीर्ष स्थान हासिल किया और कंपाउंड श्रेणी में संभावित 8 में से 7 पदक जीतकर इतिहास भी रचा है| और उन्हें पूरा विश्वास है की टीम आगे भी इसी तरह बेहतर प्रदर्शन करके देश का नाम रोशन करती रहेगी |

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

यह बहुत बड़ी उपलब्धि है की हमारे ख़िलाड़ी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं, और पुरे देश में अगर तीरंदाजी के लिए कहे तो एक बहुत अच्छा माहौल है और एक अच्छा भविष्य दिख रहा है | क्योंकि जो खिलाड़ी इस खेल के मैदान में जीत कर आये वो अन्य लोगों को भी प्रेरित करते हैं | हमारा भारतीय तीरंदाजी संघ (एएआई) के माध्यम से कोशिश ये हो रहा है के हम सुदूरवर्ती क्षेत्रों में रहने वाले खिलाड़ियों को हम कैसे प्रोत्साहित कर सकें | जनजातीय कार्य मंत्रालय के माध्यम होंगी ।  आदिवासी बच्चों के बीच प्रतिभा को बढ़ावा देने के लिए मंत्रालय 100 एकलव्य विद्यालयों में तीरंदाजी अकादमी स्थापित करने जा रहा है |

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार खिलाड़ियों के हित के लिए कार्य कर रही है और खिलाडियों को हर तरह की सहायता उपलब्ध कराई जा रही है ताकि वो अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर सकें |

must read