भारत सरकार, एमएसएमई मंत्रालय, एमएसएमई-विकास कार्यालय, कोकर, राँची द्वारा आकांक्षी जिला (Aspirational District) रांची में खरीद एवं विपणन सहायता योजना (PMS Scheme) के तहत दो दिवसीय निर्यात संवर्द्धन एवं जेम (GeM) पर राष्ट्रीय स्तर की संगोष्ठी (नेशनल सेमिनार) का आयोजन दिनांक 09 एवं 10  जनवरी, 2023 को होटल हॉलिडे होम, कांके रोड, राँची में किया गया। 

कार्यक्रम  का मुख्य उद्देश्य भारत सरकार के एमएसएमई मंत्रालय द्वारा एमएसएमई इकाईयों को निर्यात संवर्द्धन, जेम (GeM), नए बाजार सृजन, राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय बाजार में नवीनतम चलन, निर्यात की प्रक्रिया, निर्यात संबंधित दस्तावेजीकरण इत्यादि के बारे में वृहद रुप से जानकारी देना एवं जागरुक करना है। 

इस कार्यक्रम का उद्घाटन दिनांक 09.01.2023 को पूर्वाह्न 11.30 बजे होटल हॉलिडे होम, कांके रोड, राँची के सभागार में मुख्य अतिथि डॉ महुआ माजी, माननीय सांसद, राज्यसभा एवं विशिष्ट अतिथि श्री जितेंद्र कुमार सिंह, भा.प्रा.से., निदेशक उद्योग, उद्योग निदेशालय,झारखंड सरकार द्वारा दीप प्रज्वलित करके किया गया। उद्घाटन सत्र में मुख्य अतिथि एवं सभी गणमान्य अतिथियों का स्वागत कार्यक्रम के संयोजक श्री गौरव, सहायक निदेशक द्वारा किया गया। सुश्री किरण मारिया तिरू, शाखा प्रमुख, एनएसएसएच, रांची ने अनुसुचित जाति एवं अनुसुचित जनजाति के उद्यमियों के लिए उपलब्ध केंद्र एवं झारखंड सरकार की योजनाओं के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दिया। 

श्री इंद्रजीत यादव, आई.ई.डी.एस., संयुक्त निदेशक एवं कार्यालय प्रमुख, एमएसएमई-विकास कार्यालय, कोकर, राँची ने कार्यक्रम के उद्देश्य एवं रूप–रेखा से अवगत कराया तथा सभी प्रतिभागी उद्यमियों से इस संगोष्ठी में शामिल हो रहे निर्यात संवर्धन के विविध विशेषज्ञों के निर्यात की प्रक्रिया एवं दस्तावेजीकरण संबंधित अनुभव का लाभ लेने की अपील की जिससे वे अपने उत्पादों का निर्यात विदेशों में कर सकें एवं अपने उद्यमों का विकास सुनिश्चित कर सकें। साथ ही उन्होंने विशेषकर जेम (GeM) के विशेषज्ञों को ज्यादा ध्यान देकर सुनने एवं सीखने की बात कही जिससे उनके सभी शंकाओं का समाधान हो सके एवं वे सरकारी खरीद के ज्यादा से ज्यादा हिस्से के आपूर्तिकर्ता बन सके।

विशिष्ट अतिथि श्री जितेंद्र कुमार सिंह, भा.प्रा.से., निदेशक उद्योग, उद्योग निदेशालय, झारखंड सरकार ने सभी उद्यमियों को झारखंड सरकार द्वारा उपलब्ध योजनाओं के तहत उनके उद्यम के विकास के लिए हर संभव मदद प्रदान करने का आश्वासन दिया।

मुख्य अतिथि माननीय सांसद, डॉ. महुआ माजी ने कार्यक्रम के उद्घाटन सत्र में अपने अभिभाषण में कहा कि इस तरह के कार्यक्रम उद्यमियों को बढ़ावा देने के लिए समय की मांग है। इससे अनुसुचित जाति, अनुसुचित जनजाति एवं महिला उद्यमियों को व्यापार जगत में आ रहे बदलाव की अद्यतन जानकारी प्राप्त हो सकेगी तथा वे अपने उत्पादों को निर्यात के माध्यम से ऩए विदेशी बाजारों तक पहुंचा कर अपने उद्यमों का बेहतर विकास कर सकेंगे। इस प्रकार के संगोष्ठी के आयोजन के लिए भारत सरकार, एमएसएमई मंत्रालय, एमएसएमई-विकास कार्यालय, कोकर, राँची बधाई के पात्र हैं।

श्री सुरेन्द्र शर्मा, सहायक निदेशक, एमएसएमई-विकास कार्यालय, कोकर, रांची ने कार्यक्रम के उद्घाटन सत्र की समाप्ति पर सभा में उपस्थित सभी प्रतिभागियों का धन्यवाद ज्ञापन किया। तत्पश्चात तकनीकी सत्र में DGFT, कोलकाता, CAPEXIL, कोलकाता एवं जेम (GeM), रांची के वरीय अधिकारियों ने अपना अनुभव एवं कौशल सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यमियों के साथ साझा किया। इस संगोष्ठी में झारखंड राज्य के उद्योग संघों, चैम्बर्स एवं रांची जिले एवं आसपास के जिलों के लगभग 100 से ज्यादा प्रतिभागी उद्यमियों ने उन विशेषज्ञ अधिकारियों से सीधे वार्तालाप करके अपनी शंकाओं का समाधान किया तथा निर्यात संवर्द्धन एवं जेम (GeM) से संबंधित जानकारी प्राप्त किया।

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read