Four colleges -Matasya Takniki Mahavidalaya,Gumla,Cattle Takniki Mahavidalaya,Dumka,Krishi Vidalaya,Garhwa and Tilka Manjhi Krishi Mahavidalaya,Godda-are planned to be constructed in Jharkhand.In a review meeting presided by Governor’s Advisor Madhukar Gupta at the state secretariat today,it was decided to run them on Public-Private-Partnership Mode.

The details of the decision were provided by the press release issued by the public relations department.It said as follows:

महामहिम राज्यपाल के सलाहकार श्री मधुकर गुप्ता ने आज प्रोजेक्ट भवन स्थित सभा कक्ष में राज्य में बन रहे मत्स्य तकनीकी महाविद्यालय, गुमला, गव्य तकनीकी महाविद्यालय, दुमका, कृषि महाविद्यालय, गढ़वा तथा तिलका मांझी कृषि महाविद्यालय, गोड्डा की स्थिति प्रतिवेदन की समीक्षा की। बैठक में यह निर्णय लिया गया कि इन महाविद्यालयों को पी0पी0पी0 मोड में संचालित किया जाएगा। इसके लिए टेंडर की प्रक्रियाएं बिरसा कृषि विश्व विद्यालय की स्तर से ही निष्पादित की जाएगी। इन महाविद्यालयों में अगले सत्र से नियमित पाठयक्रम आरम्भ होंगे।

श्री मधुकर गुप्ता ने कहा कि भवन निर्माण संबंधी कार्य सितम्बर माह तक पूरे कर लिए जाएं। भवन निर्माण को पूरा करने के लिए हरेक स्तर पर समयबद्धता सुनिश्चित कराएं। कार्य की प्रगति की माॅनिटरिंग प्रत्येक 15 दिनों की अवधि पर की जाए। उन्होंने मुख्य सचिव एवं विकास आयुक्त को समय-समय पर अपने स्तर पर भी समीक्षा करने की आवश्यकता को रेखांकित किया। उन्होंने सभी महाविद्यालयों के निर्माण के लिए एक लक्षित समय निर्धारित करने का निदेश भी दिया। तिलका मांझी कृषि महाविद्यालय गोड्डा, के संबंध में उन्होंने निदेश दिया कि इस वित्तीय वर्ष के अंत तक इसका निर्माण कार्य अवश्य पूरा कर लिया जाए। उन्होंने पी0पी0पी0 मोड के संबंध में स्पष्ट रूप से कहा कि इन महाविद्यालयों में नामांकन, शिक्षण शुल्क इत्यादि में झारखण्ड के विद्यार्थियों को प्राथमिकता मिलनी चाहिए। इन तकनीकी संस्थानों में शिक्षण का स्तर स्थापित मानकों के ही अनुरूप होना चाहिए।

मुख्य सचिव श्री आर0एस0 शर्मा ने देश के अन्य भागों में संचालित इस प्रकार के तकनीकी संस्थानों की शैक्षणिक गतिविधियों, शैक्षणिक प्रबंधन एवं फीस स्ट्रक्चर को ध्यान में रखते हुए हर हाल में गुणवत्तापूर्ण शैक्षणिक स्तर बेहतर प्रबंधन पर बल दिया। उन्होंने कहा कि दिसम्बर माह से डिप्लोमा कोर्स प्रारम्भ करने का हर सम्भव प्रयास किया जाए।

बैठक में विकास आयुक्त श्री ए0के0सरकार, प्रधान सचिव वित्त विभाग श्री सुखदेव सिंह, प्रधान सचिव कृषि एवं गन्ना विकास विभाग श्री अरूण कुमार सिंह, प्रधान सचिव पशुपालन श्री बी0के0त्रिपाठी, सचिव योजना एवं विकास विभाग श्री अविनाश कुमार, बिरसा कृषि विश्व विद्यालय के कुलपति श्री एम0पी0 पाण्डेय सहित संबंधित विभागों के वरीय पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

--------------------------Advertisement--------------------------1000 days of Hemant Govt

must read