*All images by IPRD, Jharkhand

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि वन झारखंड प्रदेश की महत्वपूर्ण संपदा है | इन वन रूपी संपदाओं को संरक्षित और संवर्धित करना राज्य सरकार की प्राथमिकता है | वन एवं जंगलों की सुरक्षा के लिए राज्य सरकार जल्द ही और दो हजार वनरक्षी की नियुक्ति करेगी | पिछले |30 वर्षों में झारखंड में वनरक्षी की नियुक्ति नहीं हुई थी परंतु वर्तमान की राज्य सरकार ने वर्ष 2017 में 2 हजार 188 वनरक्षकों की नियुक्ति की है | राज्य सरकार द्वारा पूरे प्रदेश में मुख्यमंत्री जन वन योजना चलाई जा रही है | 2 करोड़ 40 लाख वृक्षारोपण करना सरकार का लक्ष्य है  | पूरी दुनिया पर्यावरण के स्तर में गिरावट से चिंतित है | स्वच्छ वातावरण में कमी आई है | ऐसे समय में हम सबों की नैतिक जिम्मेदारी बनती है कि पूरे राज्य को हरा-भरा बनाएं | जन सहयोग से ही ग्रीन झारखंड का सपना साकार हो सकेगा | उक्त बातें मुख्यमंत्री ने निर्माणाधीन नए विधानसभा परिसर में वन,पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन विभाग द्वारा आयोजित वन महोत्सव को संबोधित करते हुए कही |                         

-------Advertisement-------Har Ghar Tiranga

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि वृक्षा रोपण कार्यक्रम को जन आंदोलन बनाएं | वृक्षारोपण योजना को सफल बनाने के लिए अधिक से अधिक जनभागीदारी हो इसे सुनिश्चित कराएं | उन्होंने कहा कि वर्ष 2016 में इस वृहद वृक्षारोपण कार्यक्रम के अंतर्गत 2.57 करोड़ वृक्ष लगाए गए थे तथा वर्ष  2017 में 2.66 करोड़ वृक्ष लगाए गए हैं | वृक्षारोपण कार्यक्रम राज्य की 33 प्रतिशत भू-भाग को वनों से आच्छादित करने की दिशा में एक सार्थक प्रयास है | राज्य में सभी नदियों के तट पर वृक्षारोपण कार्यक्रम चलाया जा रहा है | पिछले महीने पूरे प्रदेश में नदियों के किनारे 9 लाख वृक्षारोपण किया जा चुका है | मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की कि अपने बच्चों के जन्मदिन पर एक वृक्ष अपने बच्चों के नाम पर अवश्य लगाएं | राज्य के मंत्री, विधायक एवं जनप्रतिनिधि इस योजना को अपने-अपने क्षेत्रों में शत-प्रतिशत लागू करें |

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि वन पर्यावरण संतुलन का एक महत्वपूर्ण है साथ ही साथ रोजगार सृजन का भी व्यापक साधन है | राज्य में बांस आधारित उद्योगों में रोजगार की काफी संभावनाएं हैं | बांस से उत्पादित वस्तुओं को यूरोप की कंपनी आइका को निर्यात किए जाने की योजना है | राज्य में 2017 में नयी केन्दु पता नीति लागू हुई है | इस नीति में संग्रहकों के हितों को ध्यान में रखा गया है एवं उनको देय मजदूरी एवं प्रोत्साहन राशि को बैंक खातों के माध्यम से भुगतान करने की व्यवस्था सरकार द्वारा की गई है | इस नीति के लागू होने के परिणाम स्वरुप वर्ष 2016-17 में संग्रहकों को कुल 60.24 करोड़ राशि का भुगतान हुआ जो वर्ष 2015-16 से 88 प्रतिशत अधिक था | उन्होंने कहा कि इसी प्रकार 2017-18 में संग्रहकों को कुल 82 करोड़ राशि भुगतान किया जा रहा है जो कि एक रिकॉर्ड है | उन्होंने कहा कि किसान वर्ग के लोग अपने खेतों के मेड़ो में बांस या फलदार वृक्ष लगाएं इससे आय में वृद्धि होगी | छोटी-छोटी चीजों से ही बदलाव आता है | वर्ष 2022 तक राज्य के किसानों एवं गरीबों की आय दोगुनी करना सरकार की प्राथमिकता है |    

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि झारखंड वासियों की आत्मा वनों एवं जंगलों में बसती है | वन धरती का प्राण है | भारतीय संस्कृति में वृक्षों की पूजा होती है | राज्य में आदिवासी, वनवासी एवं अन्य समाज के लोग वृक्षों की पूजा करते हैं | हमसबों के धर्म, आस्था एवं संस्कृति में वृक्ष का बहुत ही व्यापक महत्व है. प्रत्येक वृक्ष में किसी न किसी भगवान का वास होता है. सिर्फ मनुष्य ही नहीं बल्कि ब्रह्मांड में सभी जीव जंतुओं को वृक्ष की आवश्यकता होती है. वृक्षों से ही हम सबों को जल, भोजन एवं ऑक्सीजन मिलता है |                        

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि रांची में बन रहे निर्माणाधीन नए विधानसभा परिसर में तीसरी बार वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन हुआ है | यह परिसर सदैव हरा भरा रहे यह हम सबों की नैतिक जिम्मेवारी है | उन्होंने वन पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन विभाग द्वारा वृक्षारोपण कार्यक्रम को मिशन मोड में चलाने के लिए विभाग के अधिकारियों एवं कर्मियों को साधुवाद दिया | मुख्यमंत्री ने कहा कि फरवरी 2019 तक यह नया विधानसभा परिसर बनकर तैयार हो जाएगा | तेज गति से निर्माण कार्य पूरा हो रहा है विश्वास है कि अगला बजट सत्र नए विधानसभा परिसर में ही होगा |                            

इस अवसर पर झारखंड विधानसभा अध्यक्ष दिनेश उरांव ने कहा कि वृक्ष पर्यावरण का अभिन्न अंग है| वृक्ष के बिना जीवन की परिकल्पना नहीं की जा सकती है | झारखंड प्रदेश की धार्मिक, सांस्कृतिक एवं भौगोलिक बसावटों में वृक्ष की पूजा होती है | मुख्यमंत्री के नेतृत्व में पूरे राज्य में सफलता पूर्वक जन वन योजना चलाई जा रही है | राज्य सरकार वनों के संरक्षण हेतु कृतसंकल्पित है |          

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा ने कहा कि मेरे पूर्वज भी वन पर्यावरण से जुड़े हुए थे | राज्य की वन रुपी संपदाओं को संरक्षित एवं संवर्धित रखने हेतु मेरे पिता जी ने भी सकारात्मक कार्य किया था | झारखंड अपने नाम के मुताबिक हरा भरा प्रदेश है | राज्य की संस्कृति में वृक्षों का अहम स्थान है | हमसबों को मिलकर जन वन योजना को सफल बनाना होगा | आने वाली पीढ़ी को हरा भरा झारखण्ड देना हम सबों की जिम्मेदारी है | उन्होंने सभी लोगों से अपील किया कि अपने घर आंगन और आस पास के क्षेत्रों में 10-10 वृक्ष अवश्य लगाएं | उन्होंने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री के नेतृत्व में जन वन योजना काफी सफल रही है | वृक्ष के माध्यम से ही सभी प्राणियों को भोजन मिल पाता है अतएव जन वन योजना को जन आंदोलन बनाने की आवश्यकता है |     

इस अवसर पर मुख्यमंत्री, झारखंड विधानसभा अध्यक्ष एवं सभी उपस्थित मंत्रियों ने नए विधानसभा परिसर में वृक्षारोपण भी किया |

कार्यक्रम में माननीय मंत्री सीपी सिंह, माननीय मंत्री राज पालीवार, माननीय मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी, माननीय मंत्री लुईस मरांडी, माननीय मंत्री नीरा यादव, माननीय मंत्री चंद्रप्रकाश चैधरी सहित विधायकगण, मुख्य सचिव, अपर मुख्य सचिव, सचिव एवं बड़ी संख्या में अन्य उपस्थित थे|

must read