हजारीबाग जिले के दामोदीह में मौजूद एल्युमिनियम फैक्ट्री में ब्लास्ट हुआ है। इस हादसे में दो लोगों की मौत हो गयी है। बताया जा रहा है कि दोनों मजदूर बिहार के रहने वाले थे। इस हादसे में किसी और मजदूर के घायल होने की खबर नहीं है। 

अब तक मिली जानकारी के अनुसार फैक्ट्री में एल्युमिनियम के बर्तन और दूसरे सामान तैयार होते हैं। इसे तैयार करने की एक पूरी प्रक्रिया है। इसमें कार और दूसरे स्क्रैप को पहले गलाया जाता है। 

इन्हें तरल पदार्थ में बदलने के बाद ही एल्यूमीनियम के सामान तैयार होते हैं। कंपनी की भट्ठी में स्क्रैप गलाया जा रहा था तभी यह हादसा हुआ। अचानक भट्ठी में धमाका हो गया। 

भट्ठी के पास ही दो मजदूर काम कर रहे थे इसकी चपेट में आने से दोनों की मौके पर ही मौत हो गयी। मजदूर गया जिला के रहने वाले बताए जा रहे हैं। इनके नाम रणजीत ठाकुर और सुखदेव साव हैं। 

शव देखते ही दो महिला मजदूर भी बेहोश हो गयीं लेकिन अब उन्हें खतरे से बाहर बताया जा रहा है इसके अलावा अबतक किसी औऱ मजदूर के घायल होने की सूचना नहीं है।  

इस हादसे ने कंपनी का बड़ा नुकसान किया है। भट्ठी में तैयार हो रही एल्यूमीनियम फैक्ट्री में चारो तरफ फैल गयी है। धमाका इतना जोर था कि छत पर लगा एस्बेस्टस भी हवा में उड़ गया। 

जहां धमाका हुआ उससे थोड़ी दूरी पर 20 से 25 मजदूर काम कर रहे थे। अगर यह भी भट्ठी के आसपास होते तो यह हादसा औऱ बड़ा हो सकता था। दोनों मजदूर के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है। 

पुलिस ने फिलहाल जांच के लिए पूरी कंपनी को सील कर दी है। पुलिस अब विस्तार से पता लगायेगी कि इस हादसे के पीछे असल वजह क्या है। 

इस धमाके को लेकर आसपास के ग्रामीण लोग कई तरह की चर्चा कर रहे हैं। इस फैक्ट्री में 25 से 30 मजदूर काम करते थे। हादसे के बाद से ही फैक्ट्री के बाहर भारी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे।

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read